You have to wait 20 seconds.


यूपी | 10 हजार की रिश्वत लेते दरोगा गिरफ्तार: पुलिस चौकी से एंटी करप्शन टीम खींचते हुए ले गई, खुद को बचाने के लिए हाथ-पैर झटकता रहा

लखनऊ की हरौनी पुलिस चौकी प्रभारी को एंटी करप्शन ने शनिवार को 10 हजार रिश्वत लेते पकड़ा लिया। फिर चौकी से दरोगा को खींचकर बाहर लाया। इसका वीडियो भी सामने आया है। इसमें दिख रहा है कि एंटी करप्शन के अफसर उसे पकड़कर ले जा रहे हैं।
इस दौरान दरोगा हाथ-पैर झटकता रहा। खुद को बताता रहा है। मगर, एंटी करप्शन के अफसरों ने उसकी एक नहीं सुनी। इस दौरान चौकी के सिपाही दरोगा को छुड़ाने की कोशिश करते हैं । मगर, एंटी करप्शन के अफसरों ने उन्हें हटा दिया। इसके बाद टीम उसे खींचकर गाड़ी तक ले गई। फिर धक्का देकर उसे अंदर बैठाया। इसके बाद उसे PGI थाने ले आई। यहां टीम ने दरोगा के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया।


2019 बैच का दरोगा है राहुल त्रिपाठी
दरोगा का नाम राहुल त्रिपाठी है। वह 2019 के बैच का दरोगा है। कुछ महीनों पहले ही उसे बंथरा थाना की हरौनी चौकी प्रभारी बनाया गया था। इससे पहले वह मोहनलागंज कोतवाली में तैनात था। एंटी करप्शन टीम के निरीक्षक नूरुल हुदा खान ने बताया, "बुद्धेश्वर के रहने वाले विनोद कुमार ने दरोगा के खिलाफ शिकायत की थी। इसके बाद टीम ने दरोगा को रंगे हाथ पकड़ने का प्लान बनाया।
शनिवार शाम दरोगा ने विनोद को पैसे लेकर बुलाया था। जैसे ही विनोद चौकी के अंदर गए। इसके बाद हम लोग भी पीछे से आ गए और उसे रंगे हाथों पकड़ लिया। इसके बाद दरोगा को साथ चलने के लिए कहा। मगर दरोगा साथ नहीं रहा था। इसके बाद दरोगा को खींचकर चौकी से बाहर लाना पड़ा। इस दौरान दरोगा ने खुद को छुड़ाने की हर कोशिश की। फिर हम लोग उसे PGI थाने लेकर आए। यहां उसके खिलाफ FIR दर्ज करवाई।


प्रत्यक्षदर्शी बोले- दरोगा से मारपीट की, फिर उसे लेकर चले गए
प्रत्यक्षदर्शियों ने बताया कि दरोगा खाना खाकर चौकी के अंदर अपने कमरे में आराम कर रहा था, तभी तीन कारों से 12 से अधिक अधिक लोग आए और दरोगा के कमरे में घुस गए। इसके बाद दरोगा को जबरन पकड़कर खींचते हुए अपनी गाड़ी के पास लाए। फिर उसे मारपीट कर गाड़ी में डाल लिया और लेकर चले गए। इस दौरान दरोगा और उन लोगों के बीच हाथापाई भी हुई। जिससे दरोगा की वर्दी में लगा बैच फटकर जमीन पर गिर गया।

एक टिप्पणी भेजें

और नया पुराने