अलीगढ़ | हरदुआगंज क्षेत्र के गांव में जिला पंचायत सदस्य का स्वागत कर रहा तड़ीपार, पुलिस बनी अंजान



लोकल इंटेलिजेंस यूनिट (एलआईयू) ने संज्ञान लिया है। एलआईयू केपी सिंह का कहना है कि एक फोटो व वीडियो वायरल हुआ, गांव जाकर उसकी पुष्टि कराई, फ़ोटो जिलाबदर का ही है जो गांव में ही बताया गया स्थानीय पुलिस व उच्चाधिकारियों को अवगत करा दिया गया है

रिपो० निखिल शर्मा 

क्षेत्र में गुनाह की इबादत लिख रहे जिस शातिर अपराधी को पुलिस प्रशासन ने चुनाव से पहले ही जिला बदर घोषित किया था, वहीं शातिर अपने पिता के साथ गांव में नवनिर्वाचित जिला पंचायत सदस्य का स्वागत करते दिखा, इसका फ़ोटो सोशल मीडिया पर वायरल होकर पुलिस तक पहुंचा लेकिन कार्रवाई सिफर ही रही, इसकी शिकायत जागरूक जनों द्वारा मुख्यमंत्री को भेजी गई है।

मामला गांव सपेरा भानपुर यहां का निवासी आदेश कुमार पुत्र अवधेश कुमार शातिर अपराधी है, जिले के विभिन्न थानों में मुकदमों की लंबी फेहरिस्त के चलते चुनाव में शांति व्यवस्था के दृष्टिगत 27 मार्च को उसे जिला बदर किया गया था। आदेश को छह माह जिले से बाहर रहने के आदेश पुलिस को दिए गए, इसी बीच उसके पिता अवधेश कुमार ने प्रधान पद की दावेदारी की उस बीच भी आदेश को गांव में ही रहने की शिकायत विपक्षी प्रत्याशी लगातार पुलिस से करते रहे, वहीं चुनाव में आदेश के पिता अवधेश विजयी रहे, दिनांक 9 मई को सपेरा भानपुर से संचालित वाट्सएप ग्रुप खुला मंच पर एक फोटो वायरल हुआ, जिसमें आदेश कुमार अपने पिता अवधेश के साथ जिला पंचायत सदस्य रामू भाई का स्वागत करते दिख रहा है, इसी बीच भीड़ के बीच अवधेश के स्वागत का एक वीडियो भी वायरल हुआ, वायरल फ़ोटो व वीडियो का लोकल इंटेलिजेंस यूनिट (एलआईयू) ने संज्ञान लिया है। एलआईयू केपी सिंह का कहना है कि एक फोटो व वीडियो वायरल हुआ, गांव जाकर उसकी पुष्टि कराई, फ़ोटो जिलाबदर का ही है जो गांव में ही बताया गया स्थानीय पुलिस व उच्चाधिकारियों को अवगत करा दिया गया है।

देखें वीडियो,,,

और नया पुराने

खबर पढ़ रहे लोग: 0