अलीगढ़ | हरदुआगंज में मुकदमे के बाद भी पीड़ित को मिल रही धमकी, एसएसपी से लगाई सुरक्षा की गुहार

 


रिपो० निखिल शर्मा 

हरदुआगंज : थाना क्षेत्र के गांव इब्रहिमाबाद में एक माह पहले युवक पर जानलेवा हमले के मामले में खुलेआम घूम रहे नामजद आरोपितों की दबंगई से भयभीत युवक के पिता ने एसएसपी से सुरक्षा की गुहार लगाई है। 

इब्राहिमाबाद निवासी किशनपाल सिंह ने बताया कि 16 अप्रैल को उसका बेटा मौनू मजदूरी करके घर लौट रहा था, हरदुआ देहात के निकट देवता मंदिर पर गांव के सोनू पुत्र राजू, लोली पुत्र प्रेमपाल, नागेंद्र पुत्र प्रेमदास ने पकडक़र लोहे की रॉड से जमकर पीटा तथा मरा समझ कर वहीं छोडक़र भाग गए थे। जिसे पुलिस ने ही जिला अस्पताल में भर्ती कराया था, मोनू का सिर फट गया था, जिसमें 12 टांके आए थे, हाथ व शरीर में बहुत गंभीर गुम चोटें आईं थी, मामले में 17 अप्रैल को पुलिस ने डॉक्टरी रिपोर्ट के आधार पर जानलेवा हमले की धाराओं में मुकदमा दर्ज किया था, जिसकी विवेचक दारोगा सोहनलाल वर्मा थे, बाद में ये विवेचना महिला दारोगा रेनू यादव को मिली, मामले में एक माह से अधिक समय बीतने पर भी नामजद गिरफ्तार नहीं किए जा सके, किशनपाल का आरोप है नामजद आरोपी खुलेआम घूम रहे हैं, तथा फैसला करने के लिए धमकी दे रहे हैं, वह चुनावी समय में भी शराब पीकर उसके घर पर खुलेआम धमकी व गाली देते रहे हैं, आरोपितों की दबंगई से उसका परिवार बुरी तरह से डरा हुआ है। थाने शिकायत करने पर वहां से फटकार कर भगा दिया जाता है। किशनपाल सिंह ने एडीजी कानून व्यवस्था व एसएसपी को शिकायत भेज परिवार की सुरक्षा व न्याय की गुहार लगाई है।

और नया पुराने

खबर पढ़ रहे लोग: 0