अलीगढ़ | चुनाव से पहले होती कार्रवाई तो हरदुआगंज मंडी में खून न बहाता 25 हजारी कुलदीप



डेस्क समाचार दर्पण लाइव

हरदुआगंज : मुख्यमंत्री के आदेश है कि खुलेआम घूम रहे अपराधियों को जेल भेजा जाए, मगर पुलिस मुखिया के इस आदेश पर पुलिस कितना अमल करती है, हरदुआगंज का 25 हजार का इनामी कुलदीप ठाकुर इसकी बानगी है। गुरूवार की शाम एसटीएफ की मदद से पुलिस ने कुलदीप को तमंचे सहित पकड़ा है, कुलदीप 20 मई को हरदुआगंज के सरकारी क्रय केंद्र पर काम कर रहे मजदूरों की पिटाई करने के बाद से लापता था, 

बारिश में के चलते बंद क्रय केंद्र पर जबरन गेहूं तुलवाने को लेकर अपने कई साथियों के साथ आए कुलदीप ने मजदूरों की लाठी डंडों से पिटाई की, इस झगड़े में 25 हजार का इनामी कुलदीप खुद घायल हुआ, पुलिस ने ही उसकी डॉक्टरी कराई, मगर वह पुलिस की नाक के नीचे से फरार हो गया, कुलदीप पर हरदुआगंज थाने में बीस मुकदमे दर्ज हैं, पहला मुकदमा वर्ष 2001 में दर्ज हुआ तब से अब तक वह अपराध दर अपराध करने के चलते गुंडा एक्ट व गैंगस्टर तक की कार्यवाही हो चुकी है। उसके बाद भी ठाठ से रह रहा था, मंडी में मजदूरों को पीटने के बाद पुलिस को 25 हजार का इनामी होने की याद आई, शायद पहले कार्रवाई होती तो मजदूरों का यूं खून न बहता।

                                 यह भी पढ़े,,,



और नया पुराने

खबर पढ़ रहे लोग: 0