अलीगढ़ | जवां में लटके मिले प्रेमी जोड़े के शव, हत्या या आत्महत्या की गुत्थी में उलझी पुलिस

डेस्क समाचार दर्पण लाइव

 अलीगढ़ : थाना जवां के बहादुरपुर कोटा में प्रेमी युगल की मौत के बाद देर रात आई पोस्टमार्टम रिपोर्ट ने गुत्थी सुलझाने में जुटी पुलिस को और भी उलझा दिया है। प्रारंभिक जांच में पुलिस इसे प्रेम प्रसंग से जुड़ा मामला मानकर चल रही थी। पोस्टमार्टम रिपोर्ट में युवक की मौत का कारण खुदकुशी बताया गया है तो युवती की गला दबाकर हत्या किए जाने की पुष्टि की है। अब पुलिस नए सिरे से इस प्रकरण की गुत्थी सुलझाने में जुट गई है। पुलिस ने दोनों शवों का फोरेंसिक टीम व डाक्टरों के तीन सदस्यीय पैनल के जरिए पोस्टमार्टम कराया है। इससे पहले फोरेंसिक टीम ने घटनास्थल पर पहुंचकर भी घटना से जुड़े साक्ष्य एकत्रित किए हैं।

                         मृतक बुलबुुल

चार साल पहले हुई थी शादी

सासनीगेट के जयगंज इलाके की पीली कोठी निवासी राजवीर सिंह ने अपने रिश्ते के साढू अनिल कुमार के कहने पर कोटा बहादुरपुर निवासी विकास के साथ बेटी की करीब चार साल पहले शादी की थी।

मासूम के रोने पर पता चली घटना

बुलबुल के ससुर प्रताप सिंह के अनुसार सुबह उसकी तीन साल की बेटी अनन्या रो रही थी। जब वे उसे लेकर बहू के कमरे में पहुंचे तो दरवाजा बंद था। खटखटाने पर वह खुल गया। जैसे ही दरवाजा खुला तो बहू मृत अवस्था में पड़ी हुई थी जबकि दीपक फंदे पर लटका हुआ था। प्रताप सिंह का आरोप था कि दीपक ने सात माह की गर्भवती बहू के साथ जोर-जबरदस्ती करने का प्रयास किया। विफल होने पर पहले उसकी हत्या कर दी फिर खुद खुदकुशी कर ली।

ससुरालियों ने मार डाला भाई-बहन को

महिला के पिता राजवीर सिंह व मां रेखा ने उसके ससुरालियों पर दोनों की हत्या करने का आरोप लगाया है। उनका आरोप है कि शादी के बाद से ससुराली दहेज में रुपयों की मांग को लेकर उसका उत्पीड़न करते थे। कई बार उन्होंने बेटी की खुशियों को लेकर उनकी मांगों को पूरा भी किया था। इसके बाद भी उनकी हरकतें बंद नहीं हो रही थी। देर रात भी उन्होंने बेटी संग मारपीट की थी। यह बात बेटी ने उन्हें फोन पर दी थी। जिस पर दीपक बहन से मिलने पहुंचा था। जहां ससुरालियों ने दोनों को मार डाला।

15 दिन में ही खुशियां मातम में बदली

महिला की ननद शोभा की चार जुलाई को ही शादी हुई है। इससे घर में शादी की खुशियों का माहौल था। 11 जुलाई को ही उसकी पहली विदा हुई थी। बुलबुल का पति विकास नौ जुलाई को ही मुबंई चला गया था। रविवार को बुलबुल की मौत के बाद घर में मातम पसर गया। तीन साल की मासूम अनन्या का मां के बिना रो-रोकर बुरा हाल था।

क्या था मामला

थाना क्षेत्र के गांव बहादुरपुर कोटा में रविवार सुबह एक कमरे में प्रेमी युगल संदिग्ध अवस्था में मृत मिले। युवक का शव फंदे पर लटका हुआ था तो सात माह की गर्भवती महिला का शव फर्श पर पड़ा था। उसके शरीर पर चोट के भी निशान थे। रिश्ते में दोनों आपस में मौसेरे भाई-बहन थे। गांव में चर्चा है कि दोनों में प्रेम संबंध थे। चर्चा ये भी है कि युवक ने बहू के साथ जोर-जबरदस्ती करने में विफल होने पर उससी हत्या कर दी। बाद में खुद भी फांसी लगा ली। वहीं युवक पक्ष ने दोनों की हत्या करने का आरोप लगाया है। पुलिस ने दोनों शवों का पोस्टमार्टम कराकर देर रात अंतिम संस्कार कर दिया गया। एसपी सिटी कुलदीप सिंह गुनावत ने बताया कि गांव बहादुरपुर कोटा निवासी 22 वर्षीय दीपक उर्फ दीपू पुत्र अनिल कुमार के प्रेम संबंध गांव में ही ब्याही अपनी मौसेरी बहन से थे। युवती का मायका जयगंज स्थित पीली कोठी के पास है। महिला का पति विकास महाराष्ट्र में ताले का कारोबार करता है। दीपक अक्सर महिला से मिलने उसके घर आ जाता था। महिला के ससुरालियों को यह सब पसंद नहीं था। कई बार विरोध भी कर चुके थे। इस बात से नाराज महिला के सास-ससुर से अलग रहने लगे। शनिवार देर रात दीपक घर के पीछे से सीढ़ी के रास्ते पहुंचा था। सुबह कमरे में उसका शव फंदे पर लटका मिला। जबकि पास ही युवती का शव पड़ा हुआ था। शरीर पर चोट व काटे जाने जैसे भी निशान थे। कपड़े भी अस्त-व्यस्त हालात में थे। युवती के पास तीन साल की एक बेटी है। खुद भी सात माह के गर्भा से थी। एसपी सिटी कुलदीप सिंह गुनावत ने बताया कि प्रथमदृष्टया मामला प्रेम प्रसंग से जुड़ा हुआ है। हर बिंदु पर गहनता से जांच की जा रही है। डाक्टरों के पैनल के जरिए पोस्टमार्टम कराया गया है। जिसमें युवक की मौत हैंगिग (खुदकुशी) से होना बताया गया है। जबकि युवती की गला दबाकर हत्या किए जाने की बात सामने आ रही है। अभी किसी पक्ष से कोई तहरीर नही मिली है। पोस्टमार्टम रिपोेर्ट का विस्तृत अध्ययन किया जा रहा है, उसके बाद आगे की कार्रवाई की जाएगी।

और नया पुराने

खबर पढ़ रहे लोग: 0