अलीगढ़ः सेंटर प्वाइंट के तिरंगा समारोह में नहीं बुलाने पर पार्षद नाराज

डेस्क समाचार दर्पण लाइव

अलीगढ़ : स्वतंत्रता दिवस पर सेंटर प्वाइंट पर 100 फुट की ऊंचाई पर तिरंगा लहराया गया। कार्यक्रम में नहीं पूछे जाने से पार्षदों में आक्रोश है। महापौर को भी समारोह की सूचना पूर्व में नहीं दी गई। नगर निगम के अधिकारियों के रवैये से आक्रोशित पार्षद निंदा प्रस्ताव लाने की तैयारी में हैं।

सेंटर प्वाइंट पर 100 फुट की ऊंचाई पर तिरंगा लहराने का इंतजार नगरवासी ही नहीं बल्कि नगर निगम के पार्षद भी कर रहे थे। सेंटर प्वाइंट के कार्यक्रम की सूचना व आमंत्रण न तो महापौर और न ही पार्षदों को दिया गया था। इससे महापौर एवं पार्षद आहत हैं। इसको लेकर नगर निगम की राजनीति गरमाने की आशंका है। खासकर भाजपा पार्षदों ने महापौर से इसकी शिकायत की है। पार्षदों के व्हाट्सएप ग्रुप में इसको लेकर बहस छिड़ी हुई है। पार्षद बोर्ड में निंदा प्रस्ताव लाने पर विचार कर रहे हैं।

पार्षद कुलदीप पांडेय का कहना है कि यह पार्षदों की अवमानना है। पार्षद दिनेश गुप्ता, मुसर्रफ, भूपेंद्र टूटेजा, संजय पंडित, हारुन अहमद जग्गी, नरेंद्र सैनी, दिनेश जादौन, मो. हामिद, विजय तोमर, सुरेंद्र पंडित आदि निंदा प्रस्ताव लाने की तैयारी में है। महापौर मो. फुरकान का कहना है कि कार्यक्रम की सूचना पूर्व में उनको भी नहीं दी गई थी। सेवा भवन में ध्वजारोहण के समय उन्हें बताया गया और वह शामिल हुए। महापौर का कहना है कि अधिकारियों के इस व्यवहार से पार्षदों के सम्मान को ठेस पहुंची है और उन्हें भी तकलीफ हुई है।

इस संबंध में अपर नगर आयुक्त अरुण कुमार गुप्त का कहना है कि नगर निगम में ध्वजारोहण के दौरान मंच से सेंटर प्वाइंट के कार्यक्रम की सूचना दी गई थी। निर्माण विभाग को कोआर्डिनेट करना था। सही स्थिति की जानकारी निर्माण विभाग के अधिकारी देंगे। अधिशासी अभियंता अशोक कुमार भाटी का कहना है कि जनसंपर्क अधिकारी को इससे संबंधित सूचना पार्षदों को देनी चाहिए थी।

और नया पुराने

खबर पढ़ रहे लोग: 0