You have to wait 20 seconds.


बुलंदशहर। दहेज की मांग पूरी न होने पर विवाहिता की हत्या : मृतका के भाई ने पति समेत सात लोगों पर लगाया हत्या का आरोप, रिपोर्ट दर्ज

 

रिपो० जोगेंद्र सागर

बुलंदशहर/छतारी। छतारी क्षेत्र के गांव सुल्तानपुर बिलोनी में दहेज की मांग पूरी नहीं होने पर विवाहिता की हत्या कर दी गई। विवाहिता का शव कमरे में खूंटी से लटका मिला। मृतका के भाई ने पति सहित सात लोगों के खिलाफ दहेज हत्या की रिपोर्ट दर्ज कराई है। वहीं पुलिस ने फॉरेंसिक टीम के साथ जांच पड़ताल करके शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजा है।

4 साल पहले हुई थी मृतका की शादी

मृतका के भाई रवेंद्र निवासी चालकपुर थाना अतरौली, अलीगढ़ ने पुलिस को दी तहरीर में बताया उसकी बहन रेनू 23 वर्ष पुत्री गुलाब सिंह की शादी करीब 4 वर्ष पूर्व गांव सुल्तानपुर निवासी पंकज पुत्र रामकुमार के साथ हुई थी। शादी के बाद से ही ससुरालीजन अतिरिक्त दहेज में भैंस और बुलेट मोटरसाइकिल की मांग करके प्रताड़ित कर रहे थे।

दहेज की मांग पूरी नहीं होने पर पति पंकज, ससुर रामकुमार, सास रूपवती, जेठ प्रमोद कुमार, जेठानी पूनम, ननद गीता और अनिता ने हत्या कर दी। रेनू की मौत की खबर मिलते ही परिजन एकत्रित होकर गांव पहुंच गए।

मृतका के भाई ने पति समेत सात लोगों के खिलाफ दर्ज कराई तहरीर

सूचना मिलते ही सीओ डिबाई रमेश चंद्र त्रिपाठी, तहसीलदार डिबाई व थाना प्रभारी राहुल चौधरी मौके पर पहुंच गए। थाना प्रभारी राहुल चौधरी ने बताया मामले में मृतका के भाई ने हत्या की तहरीर दी है। पति पंकज समेत सात लोगों के खिलाफ दहेज हत्या की रिपोर्ट दर्ज की गई है। शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजा है। मृतका के पति और ससुर को पूछताछ के लिए हिरासत में लिया गया है।


बुलंदशहर। जिला अस्पताल में तीमारदारों और डॉक्टरों में झड़प, तीमारदोरें का आरोप डॉक्टर शराब के नशे में धुत होकर करते हैं काम


बुलंदशहर। जिला अस्पताल में मंगलवार शाम डॉक्टर और तीमारदारों के बीच झड़प हो गई। डॉक्टर पर अस्पताल में उपचार के लिए आये मरीज को तमाचा जड़ने का आरोप है। तीमारदार ने डॉक्टर पर शराब के नशे में धुत होकर ड्यूटी करने का आरोप भी लगाया है। जिला अस्पताल में डॉक्टर और तीमारदार में जमकर नोक-झोंक और खींचतान हुई। स्टाफ ने डॉक्टर को भीड़ से बचाकर कमरे में बंद कर दिया। बुलंदशहर जिला अस्पताल में तीमारदारों ने काफी देर तक हंगामा किया। इसके बाद आई पुलिस ने लोगों को समझा बुझाकर शांत किया।

अस्पताल में नहीं है सुरक्षा व्यवस्था

चिकित्सक एसोसिएशन के अध्यक्ष डॉ आशीष कुमार का कहना है कि जिला अस्पताल में डॉक्टरों और स्टाफ की सुरक्षा का कोई इंतजाम नहीं है। आये दिन अस्पताल में डॉक्टरों और स्टाफ से अभद्रता होती है। जो कि बर्दाश्त से बाहर हो चुकी है। यदि प्रशासन का इस ओर कोई ध्यान नहीं जाता है तो डॉक्टर काम छोड़कर हड़ताल को विवश होंगे।

सीएमएस ने कहा- डॉक्टर से न हो अभद्रता

जिला अस्पताल के सीएमएस डॉ राजीव प्रसाद का कहना है कि डॉक्टर मरीज को बचाने का काम करते हैं। यदि तीमारदारों द्वारा अभद्र व्यवहार किया जाएगा तो डॉक्टर कैसे अपना काम करेगा।

एक टिप्पणी भेजें

और नया पुराने