You have to wait 20 seconds.


गुरु पूर्णिमा के पावन पर्व पर श्री भजन कुटी लक्ष्मीनाथ सेवा संस्थान में प्रथम वार्षिक महोत्सव का हुआ आयोजन

ब्यूरो डेस्क, अलीगढ़

सनातन धर्म की वैदिक गुरु व्यासपीठ परम्परा के अंतर्गत वर्ष में एक बार श्री भजन कुटी लक्ष्मीनाथ सेवा संस्थान, राजपुर बांगर परिक्रमा मार्ग चामुण्डा, श्रीधाम वृंदावन, मथुरा में गुरु दीक्षा के वार्षिक महोत्सव का आयोजन किया जाता है। इस बार के वार्षिक महोत्सव में 15 लोगों ने गुरु दीक्षा प्रणाली से दीक्षा ग्रहण की।

इस अवसर पर संस्थान के संचालकाध्यक्ष संत स्वामी श्री बालकृष्ण देवाचार्य जी महाराज ने बताया कि भजन कुटी का इतिहास 450 से 500 वर्ष पुराना है। भजन कुटी के वृद्धाश्रम में 166 वृद्ध माताएं नित्य श्री भगवान की सेवा, पूजा, हरिनाम संकीर्तन आदि करती हैं एवं उनके दोनों समय के भोजन व प्रसाद आदि का प्रबंध संस्थान द्वारा किया जाता है। वृद्धाश्रम के साथ साथ यहाँ पर श्री भजन कुटी बाल-बालिका आश्रय सदन भी है जहां पर कोरोना काल के दौरान अनाथ हुए 4 से 11 वर्ष के लगभग 42 बालिकाएं एवं बालक रहते हैं जिन्हें संस्थान द्वारा खाने, पीने, रहने की उचित व्यवस्था के साथ साथ उच्च शिक्षा भी उपलब्ध करायी जाती है। भजन कुटी में दैनिक भंडारे का आयोजन भी किया जाता है जिसमें प्रतिदिन लगभग 450 से 500 संत एवं भक्तजन भोजन ग्रहण करते हैं, आने वाले समय में प्रतिदिन 5000 लोगों के भोजन के प्रबंध का कार्य भी संस्थान द्वारा किया जाएगा। प्रत्येक वर्ष गुरु पूर्णिमा के पावन पर्व पर संस्थान के द्वारा वार्षिक महोत्सव का आयोजन किया जाता है जिसमें गुरु दीक्षा के साथ साथ संकीर्तन एवं भंडारे का विशेष आयोजन भी किया जाता है। यहां पर बीमार एवं दुर्घटनाग्रस्त गोवंश के उपचार हेतु श्री भजन कुटी गौशाला का निर्माण भी कराया गया है जिसमें 350 से 400 के लगभग गोवंश रहते हैं। सड़क पर दुर्घटनाग्रस्त गोवंश को यहां लाकर डॉक्टरों द्वारा उपचार कराया जाता है एवं गोवंश के चारा पानी की उचित व्यवस्था भी संस्थान द्वारा उपलब्ध करायी जाती है। महोत्सव के अवसर पर स्वामी चित्पूर्णानंद सरस्वती, साध्वी श्री जी, अमित कुमार वशिष्ठ, अमित सिंह, गजेन्द्र नायक, राजकुमारी नायक, कृष्णभक्त अभिषेक सक्सैना, आशु सिंघल, डेविल, विवेक कुमार सक्सैना, शिवानी सक्सैना, हर्षिता नायक आदि उपस्थित रहे।

एक टिप्पणी भेजें

और नया पुराने