दीपावली के दीपावली के अगले दिन सूर्य ग्रहण एक दिन बाद में गोवर्धन पूजा दिन सूर्य ग्रहण एक दिन बाद में गोवर्धन पूजा

रिपो. अभिषेक चौधरी

27 साल बाद दीपावली पर ग्रहण का साया

परंपरा और तिथि के हिसाब से दीपावली के अगले दिन गोवर्धन पूजा व अन्नकूट मनाते हैं। इस दिन भगवान को विभिन्न व्यंजनों का भोग लगाते हैं, इस साल यह परंपरा टूटने वाली है। दीपावली के अगले दिन गोवर्धन पूजा नहीं होगी क्योंकि खंडग्रास सूर्यग्रहण है। कार्तिक कृष्ण चतुर्दशी युक्त प्रदोष व्यापिनी अमावस्या पर 24 अक्टूबर को दीपावली मनाएंगे। शाम को लक्ष्मीजी की पूजा होगी। अगले दिन अमावस्या 25 अक्टूबर को खंडग्रास सूर्यग्रहण होगा। लिहाजा गोवर्धन पूजा नहीं हो सकेगी। 

पण्डित हिमांशु प्रसार

प्रभु को अन्नकूट का भोग भी नहीं लगेगा। 25 अक्टूबर को शाम 4.32 बजे सूर्यग्रहण शुरू होगा, जो शाम 6.32 बजे तक हैं ज्योतिर्विद हिमांशु शास्त्री ने बताया कि दीपोत्सव चार दिन का होगा। त्योहार चार दिन मनाया जाएगा 24 अक्टूबर को शाम को 5.27 बजे अमावस्या शुरू होगी, लेकिन दीपावली की पूजा सुबह से शुरू होगी क्योंकि अगले दिन सूर्यग्रहण है। 25 अक्टूबर को तड़के

24 दिन में रूपचौदस, शाम को अमावस के कारण दिवाली पूजा 25 अक्टूबर सूर्यग्रहण होने से कोई त्योहार नहीं 26 अक्टूबर गोवर्धन पूजा,अन्नकूट 27 अक्टूबर को भाई दूज

 दिवाली पूजा मुहूर्त

अमृत - सुबह 6.45 से 7.30 बजे शुभ- सुबह 9.33 से 10.55 बजे अभिजीत - दोपहर 11.59 बजे से 12.44 बजे तक

चंचल दोपहर 1.46 से 3.10 बजे लाभ अमृता- दोपहर 3.10 बजे से 5.58 बजे तक

प्रदोष- शाम 5.58 बजे से 8.32 रहेगा। लाभ वेला रात 10.46 बजे से 12.22 बजे तक ऐसे में सूतक12घंटे पहले सुबह 4.31 बजे से सूतक लगेगा। सूर्य ग्रहण का प्रभाव होने से गोवर्धन पूजा व अन्नकूट नहीं होंगे। 26 अक्टूबर को दोपहर 2.42 बजे द्वितीया तिथि लगेगी इसलिए गोवर्धन पूजा, अन्नकूट व और 27 को भाई दूज मनाए जाएंगे। इससे पूर्व दिवाली पर 24 अक्टूबर 1995 को सूर्यग्रहण था ज्योतिर्विद हिमांशु शास्त्री ने बताया कि यह ग्रहण वृष, सिंह, धनु और मकर राशि वालों के लिए श्रेष्ट फलदायक होगा। मेष, कन्या और कुम्भ राशि वालों के लिए मध्यम तथा मिथुन, कर्क, तुला और मीन राशि वालों के लिए नष्ट फल देने वाला होगा। सूर्य ग्रहण अलीगढ़

में शाम 4 बजकर 32 मिनट पर से 6 बजकर 30 मिनट तक दिखाई देगा।

एक टिप्पणी भेजें

और नया पुराने