अलीगढ़ | कर्जदारों से बचने के लिए आढ़ती ने रची लूट की कहानी 4 दिन पहले कहा था लूट हुई; CCTV में कोई सबूत नहीं मिले

निखिल शर्मा

अलीगढ़ के बरला थाना क्षेत्र में 4 दिन पहले आढ़ती के साथ हुई लूट फर्जी निकली। आढ़ती के ऊपर लाखों का कर्जा था और उसने कर्जदारों से बचने के लिए लूट की फर्जी कहानी रच दी थी। सूचना के बाद से पुलिस मामले की जांच कर रही थी और आसपास के सीसीटीवी भी खंगाल रही थी।

लेकिन पुलिस को पहले दिन से ही आढ़ती की कहानी पर संदेह हो रहा था। जब पुलिस को घटना स्थल और इसके आसपास के इलाके में कोई साक्ष्य नहीं मिले तो उन्होंने आढ़ती से सख्ती से पूछताछ की। जिसके बाद उसने सारी कहानी कबूल दी और बताया कि कर्जदारों से बचने के लिए उसने लूट की कहानी गढ़ी थी। जिससे कि लोग उससे रुपए न मांगे।

आढ़ती पर है बकाया है किसानों के रुपए

सुरेश चंद की दुकान बरला में है। फसल के समय पर उन्होंने किसानों से उनकी फसलें खरीदी थी, जिसका लाखों रुपए उन्हें किसानों को चुकाना था। कई महीने बीतने के बाद भी जब वह रुपए नहीं चुका पाए तो किसान उसने रोज अपने रुपए मांग रहे थे। लगातार प्रयास के बाद भी सुरेश रुपयों का इंतजाम नहीं कर पा रहे थे और लगातार परेशान थे। जिसके बाद उन्होंने थोड़ा समय पाने और रुपयों का इंतजाम करने के लिए लूट की कहानी गढ़ दी। पुलिस की सख्ती के बाद उन्होंने सारी बात कबूल कर दी। आढ़ती बुजुर्ग हैं और हार्ट के मरीज भी हैं, जिसके बाद पुलिस ने उन्हें अल्टीमेटम देकर छोड़ दिया है।

लोगों से पूछताछ के बाद हुआ पुलिस को संदेह

आढ़ती ने लगभग 4 दिन पहले लूट की कहानी गढ़ी थी और पुलिस को सूचना दी थी। उन्होंने आरोप लगाया था कि कुछ बदमाश उसने ढ़ाई लाख रुपए लूटकर ले गए हैं। पुलिस ने पीड़ित की तहरीर लेने के बाद मामले की जांच शुरू कर दी थी। सीओ बरला अभय कुमार पांडेय ने बताया कि लूट का मामला पूरी तरह से फर्जी था। तहरीर मिलने के बाद घटना स्थल के आसपास लोगों से पूछताछ की गई। लेकिन किसी ने भी घटना के बारे में जानकारी नहीं दी और न ही उन्हें लूट होने के कोई पुख्ता साक्ष्य मिले। जब आढ़ती से पूछताछ की गई तो उसने पुलिस के सामने सारा सच बयां कर दिया।

एक टिप्पणी भेजें

और नया पुराने