पुलिस ने पति IPL सट्टे के शक में उठाया दी थर्ड डिग्री, नाराज पत्नी ने जान दी,1 दरोगा और 3 सिपाही सस्पेंड

 


SDLive News

आगरा पुलिस ने सोमवार को IPL सट्टे के शक में एक युवक को उठा लिया और उसे चौकी ले जाकर थर्ड डिग्री दी। इससे परेशान होकर उसकी पत्नी अनीता ने जान दे दी। इस घटना से नाराज परिजनों और ग्रामीणों ने मंगलवार को थाने का घेराव कर हंगामा कर दिया। हंगामे की सूचना पर अफसर खेरागढ़ समेत कई थानों की फोर्स के साथ मौके पर पहुंचे। उन्होंने परिजनों को कार्रवाई का आश्वासन देकर मामला शांत करवाया। इसके बाद पुलिस आयुक्त डॉ. प्रीतिंदर सिंह ने SI समेत 4 पुलिसकर्मियों को निलंबित कर दिया।

पत्नी के सुसाइड के बाद पति को थाने से छोड़ा

पूरा मामला थाना जगनेर इलाके के नौनी गांव का है। ग्रामीणों के मुताबिक, सोमवार को जगनेर पुलिस मनोज को IPL सट्टा खेलने के शक में उठाकर ले गई थी। इसकी जानकारी परिजनों को हुई। इससे नाराज होकर सोमवार की आधी रात को मनोज की 40 वर्षीय पत्नी अनीता ने सल्फास की गोलियां खा लीं। परिजन अनीता को आनन-फानन में अस्पताल ले गए, जहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। पत्नी के सुसाइड के बाद मंगलवार सुबह में पुलिस ने मनोज को भी छोड़ दिया।

थाने पर परिजनों ने किया हंगामा

मंगलवार सुबह ग्रामीणों को अनीता के खुदकुशी करने की जानकारी मिली, तो माहौल गर्म हो गया। ग्रामीण और परिजन गुस्से में थाने पर पहुंचकर हंगामा कर दिया। परिजन आरोपी सिपाहियों की गिरफ्तारी की मांग पर अड़ गए। इसके बाद अधिकारियों ने थाने पहुंचकर मामला शांत करवाया। परिजनों का आरोप है कि गांव के एक युवक ने मनोज से 20 हजार रुपए उधार लिया था। पैसा नहीं चुका पा रहा था, इसलिए उसने मनोज को उठवा लिया।

'मुझे कॉल आया कि सट्‌टा खेल ले, मैंने मजाक में कह दिया खेल लो'

पीड़ित मनोज का कहना है,"मैं नौनी कोल्ड स्टोरेज पर काम करता हूं। सोमवार रात करीब 8 बजे काम से घर पर लौटा था। तभी किसी अज्ञात नंबर से मेरे पास फोन आया। फोन पर कॉलर ने IPL खेलने की बात कही। मैंने समझा कि कोई मजाक कर रहा है, तो मैंने मजाक में ही बोल दिया कि ठीक है, जाकर खेल लो। इस पर कॉलर ने कहा कि 10 हजार रुपए ले लो और चौराहे पर आ जाओ। लेकिन मैंने मना कर दिया। फिर से 2 बार फोन आया था।

तभी 5 मिनट बाद मेरे पास रवि पचौरी का फोन आया। उसने मुझसे 20 हजार रुपए उधार लिए थे। फोन पर बोला कि रैना देवी मंदिर पर आ जाओ और अपने रुपए ले जाओ। मैं अपने बड़े बेटे को साथ लेकर बाइक से चला गया। वहां पर गिट्टी और ऊबड़ खाबड़ रास्ता था, इसलिए बेटे को पहले ही उतार दिया। इसके बाद पैदल ही मंदिर तक गया।

देखा तो वहां पहले से कुछ लोग मौजूद थे। तीन पुलिस कर्मी सादी ‌वर्दी ‌में थे। इन लोगों ने मुझे पकड़कर गाड़ी में बैठाया और सरेंधी चौराहे पर लेकर गए। वहां पर ले जाकर 2 लाख रुपए मांगे। मैंने पैसा देने से मना किया, तो तीन साल के लिए जेल भेजने की धमकी भी दी।"

सट्टा नहीं खेलने पर बुरी तरह से पीटा

मनोज ने बताया,"पुलिसकर्मियों ने IPL सट्टा खेलने के लिए कहा। मैंने मना किया, तो चौकी पर ले जाकर बुरी तरह से पीटा। साथ ही मुझे थर्ड डिग्री टॉर्चर दिया गया। पुलिसकर्मियों ने डरा धमकाकर सट्टा खेलने की बात कबूल करने वाली वीडियो भी बनवाई। आज भोर में पुलिसकर्मियों ने पत्नी की मौत की जानकारी दी। इसके बाद मुझे छोड़ दिया।"

इस मामले में पुलिस कमिश्नर आगरा प्रीतिंदर सिंह ने बताया कि SI इजहार अहमद, सिपाही सागर चौधरी, नीरज कुमार और कुलदीप को सस्पेंड कर दिया गया है। मामले में जांच पड़ताल की जा रही है। आवश्यक कार्रवाई की जाएगी।

एक टिप्पणी भेजें

और नया पुराने