अलीगढ़ में पीएम किसान सम्मान निधि में बड़ा फर्जीवाड़ा, बिना जमीन वालो ने भी ली करोड़ो रूपये की सम्मान निधि, 22 हजार अपात्र मिले


SDLive News
अलीगढ़ जनपद में पीएम किसान सम्मान निधि में हुए फर्जीवाड़े के यह चंद ही उदाहरण हैं जिले में बड़े पैमाने पर फर्जीवाड़ा पकड़ में आया है करीब 22 हजार ऐसे अपात्र मिले हैं जो निधि का लाभ ले रहे थे इन अपात्र किसानों के द्वारा करीब चार करोड़ की धनराशि का लाभ ले लिया गया जिसमें से कृषि विभाग अब तक सिर्फ 61 लाख की ही वसूली कर पाया है प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना का लाभ ले रहे पात्रों की कृषि एवं राजस्व विभाग की टीमों द्वारा संयुक्त रूपे से जांच की गई जिसमें करीब 22 हजार ऐसे अपात्र लोग पाए गए जो पात्र न होकर भी निधि का लाभ ले रहे थे इसमें ऐसे भी अपात्र शामिल हैं जो न केवल भूमिहीन थे, बल्कि दूसरे जनपदों के रहने वाले भी हैं इसके अलावा किसानी के साथ अन्य व्यवसाय में जुड़े होने के चलते आयकर भी अदा कर रहे थे किसानों को सम्मान निधि का लाभ देने के लिए गांव-गांव टीमें जाएंगी टीम में लेखपाल भूमि अंकन, डाककर्मी खाता खोलने व कृषि विभाग के कर्मचारी ई-केवाईसी का कार्य करेंगे सभी ग्राम पंचायतों में यह कैम्प लगेंगे
किसान रामवीर संभल में खेती करते हैं वह पीएम किसान सम्मान निधि का लाभ अलीगढ़ में लेते रहे अब कृषि विभाग के सर्वे में पूरा फर्जीवाड़ा पकड़ में आया है
खैर तहसील के एक किसान पेश से जरूर खेती-किसानी करते हैं लेकिन आयकरदाताओं की सूची में भी उनका नाम है इसके बावजूद पीएम किसान सम्मान निधि का लाभ लेते रहे
पीएम किसान सम्मान निधि की जांच में ऐसे भी किसान योजना का लाभ लेते मिले जो किश्त के लिए किसान बन गए जबकि उनके पास जमीन शून्य है
● बदायूं, बुलंदशहर, संभल में रह रहे और पीएम किसान सम्मान निधि अलीगढ़ से जारी
● आयकरदाता भी पीएम सम्मान निधि की सूची में मिले, अब तक अपात्रों से 61 लाख वसूले
● अगर लाभ लेना है तो इस पर जरूर ध्यान दें
● लेखपाल के माध्यम से भूमि अंकन जरूर हो
● कॉमन सर्विस सेंटर से ई-केवाईसी करा लें
● बैंक में जाकर भी ई-केवाईसी भी हो सकती है
● किसानों का जो बैंक खाता है या नहीं है तो पोस्ट ऑफिस में खुलवालें

एक टिप्पणी भेजें

और नया पुराने