अलीगढ़। बीमारी से कर्ज में डूबे किसान ने खुद को गोली मारकर की आत्महत्या

 

ब्यूरो डेस्क अलीगढ़ 

पालीमुकीमपुर के गांव हरनोट भोजपुर में बुधवार रात बीमारी के कारण कर्ज में डूबे एक किसान ने खुद की कनपटी पर तमंचे से गोली मारकर आत्महत्या कर ली। पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजा है।

गांव हरनोट भोजपुर निवासी रामभरोसे (50) पुत्र चरन सिंह किसान थे। एक साल पहले पेड़ से लकड़ी काटते समय नीचे गिरने से घायल हो गए थे। कूल्हे की चोट लगने के कारण वह ठीक से चल-फिर नहीं पाते थे।

उनका बड़ा बेटा बृजेश गांव में रहकर खेती और पिता की सेवा करता था। छोटा बेटा रिंकू अपनी पत्नी-बच्चों के साथ मेरठ में रहता है। रामभरोसे का इलाज एक साल से चल रहा था। इलाज के चलते उन पर काफी कर्ज हो गया था। इसके बावजूद उनकी चोट सही नहीं हो रही थी, जिससे वह तनाव में रहते थे।

इंस्पेक्टर ऋषिपाल सिंह कसाना ने बताया कि इसके चलते वह आत्महत्या करने की बात करते थे। बुधवार की रात करीब आठ बजे रामभरोसे का बेटा बृजेश खेत पर बाजरा की बाली एकत्र कर रहा था। तभी रामभरोसे घर के बाहर निकले और तमंचे को अपनी कनपटी से लगाकर गोली मार ली।

गोली चलने की आवाज सुनकर परिजन और पड़ोसी भागकर मौके पर पहुंचे तो रामभरोसे का खून से लथपथ शव पड़ा था। पास ही तमंचा और खोखा पड़ा था। इंस्पेक्टर ने बताया यह आत्महत्या का मामला है।


एक टिप्पणी भेजें

और नया पुराने