जाम खुलवाने गए दरोगा पर हमला, उपद्रवी तत्वों ने दौड़ा-दौड़ा कर पीटा, देखें वायरल वीडियो

महोबा में आक्रोशित भीड़ का दरोगा पर कहर टूटा. भीड़ ने दरोगा के साथ जमकर मारपीट की. जान बचाने के लिए भागने पर भी भीड़ का गुस्सा शांत नहीं हुआ. लाठी डंडों से दरोगा पर धावा बोल दिया गया.

हादसे में 7वीं के छात्र की घटनास्थल पर मौत हो गई. प्रत्यक्षदर्शी बताते हैं कि बस में फंसी साइकिल को घसीटता हुआ ड्राइवर 6 किलोमीटर दूर तक प्रिंस को ले गया. लोगों के पीछा करने पर ड्राइवर पनवाड़ी तिगेला में बस छोड़कर फरार हो गया. बेटे की मौत पर परिजनों का गुस्सा भड़क उठा. देखते-देखते ग्रामीण भी मौके पर जुट गए. नाराज लोगों ने शव को सड़क पर रखकर जाम लगा दिया. प्रदर्शनकारी आरोपी बस चलाक के खिलाफ कड़ी कार्रवाई और पीड़ित परिजनों को मुआवजा दिए जाने की मांग कर रहे थे.

जाम खुलवाने पहुंची पुलिस टीम पर हमला

पनवाड़ी थाने में तैनात दरोगा राम अवतार पुलिसकर्मियों के साथ जाम खुलवाने पहुंचे. पुलिसकर्मी भीड़ को समझाने का प्रयास कर रहे थे. भीड़ में मौजूद अराजक तत्वों ने माहौल बिगाड़ दिया. पुलिसकर्मियों के समझने से पहले भीड़ उग्र हो गई. लोगों ने पुलिस टीम पर हमला कर दिया. तीन पुलिसकर्मियों ने मौके से भागकर जान बचाई. भीड़ की चपेट में आए दरोगा की बुरी तरह पिटाई हो गई. दरोगा को दौड़ा दौड़ा कर लाठी डंडों से मारा पीटा गया. दरोगा की पिटाई का वीडियो कैमरे में कैद हुआ है.

दरोगा का चल रहा इलाज

किसी तरीके से दरोगा ने खुद की जान बचाई. बवाल की सूचना पर सीओ हर्षिता गंगवार और एसडीएम भारी पुलिस बल के साथ मौके पर पहुंचे. 4 घंटे की मशक्कत के बाद समझा बुझाकर जाम खुलवाया. बताया जाता है कि मृतक माता-पिता का एकलौता बेटा था. एकलौते बेटे की मौत से परिवार में मातम है. मृतक की दो छोटी बहनें भी हैं. पिटाई में गंभीर रूप से घायल दरोगा का इलाज अस्पताल में चल रहा है.

पुलिस अधीक्षक अपर्णा गुप्ता ने बताया कि सड़क हादसे में बच्चे की मौत के बाद जाम को खुलवाने पुलिसकर्मी पहुंचे थे. अराजक तत्वों को रोकने की कोशिश पर उपनिरीक्षक के साथ अभद्रता और मारपीट की गई. मामले को गंभीरता से लेते हुए शरारती तत्वों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया गया है. आरोपियों की पहचान होने के बाद सख्त कार्रवाई की जाएगी

एक टिप्पणी भेजें

और नया पुराने