दिवाली की रात घर के बाहर इंस्पेक्टर का मर्डर: पत्नी बोली- दूसरे मकान में साथियों के साथ रहती है सेक्स वर्कर, घर पर भी लाते थे

लखनऊ में दिवाली पर PAC में क्वाटर मास्टर (इंस्पेक्टर) पद पर तैनात सतीश की गोली मारकर हत्या कर दी गई। वह राजाजीपुरम में अपने रिश्तेदार से मिलकर रविवार आधी रात 2.30 बजे लौटे थे। पत्नी-बेटी कार की पिछली सीट पर सो रही थीं।

कार से उतर कर सतीश घर का गेट खोल रहे थे, तभी बदमाशों ने उनके सिर कंधे में गोली मार दी। वारदात के बाद बदमाश मौके फरार हो गए। जबकि इंस्पेक्टर वहीं लहूलुहान होकर गिर गए। गोली की आवाज सुनकर पत्नी और बेटी जग गईं। परिवार और पड़ोसी दौड़कर आए गए।

इसके बाद इंस्पेक्टर को लोकबंधु अस्पताल ले जाया गया। जहां डॉक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया गया। फिलहाल, पुलिस ने परिवार के सदस्यों से अलग-अलग बयान लिए हैं। इसके साथ ही हत्यारोपियों की तलाश के लिए 5 टीमों को लगाया है।

सोती रही पत्नी, बदमाश गोली मारकर फरार DCP साउथ विनीत जायसवाल ने बताया, "सतीश कुमार कृष्णानगर के मानस विहार कॉलोनी में रहते थे। वह प्रयागराज में PAC की चतुर्थ बटालियन में क्वाटर मास्टर के पद पर तैनात थे। दिवाली पर वह पत्नी और बेटी के साथ राजाजीपुरम में एक रिश्तेदार से मिलने गए थे। वहां से वो घर करीब रात में 2.30 बजे पहुंचे। इस दौरान पत्नी और बेटी कार की पिछली सीट पर सो रही थीं। तभी वारदात को अंजाम दिया गया।"

पत्नी भावना ने बताया कि रास्ते में दो बार कार रुकने का एहसास उन्हें हुआ था। उन्हें लगा कि पान वगैरह खाने के लिए रुके हैं। फिर गन शॉट की आवाज से वह चौंककर उठी। कार का दरवाजा खोलकर बाहर आई, तो सतीश गेट के पास जमीन पर लहूलुहान पड़े थे। उन्हें अचानक कुछ समझ नहीं आया। वह चिल्लाने लगी। पड़ोसी गन शॉट की आवाज और उनके चिल्लाने पर दौड़कर आए। इसके बाद सतीश को अस्पताल ले गए।

घर पर लाते थे सेक्स वर्कर

पत्नी भावना ने पुलिस को बताया, "जनवरी में मेरी बेटी ने पति को घर में एक सेक्स वर्कर के साथ देख लिया था। उसके शोर मचाने पर जब मैं पहुंची, तो सेक्स वर्कर दीवार फांदकर भाग गई। वह सेक्स वर्कर श्रृंगारनगर वाले मकान में अन्य साथियों के साथ रहती है। इसके चलते पति उस मकान में हम लोगों को कभी नहीं ले जाते थे। वो मकान हमारे पापा का है। मुझे आशंका है कि वही सेक्स वर्कर मकान हाथ से न निकल जाए, इसलिए पति की हत्या करा दी।

CCTV खराब मिला

बदमाश कितनी संख्या में थे? वारदात के बाद वो किस तरफ भागे? मारने के लिए पिस्टल या तमंचा क्या इस्तेमाल किया? ऐसे सवालों को जवाब पुलिस तलाश रही है। घटनास्थल के पास एक CCTV लगा मिला, लेकिन वो खराब था। बाकी आने-जाने के रास्ते पर CCTV नहीं मिले हैं। इसके चलते पुलिस घटनास्थल की तरफ आने-जाने वाले रास्तों पर एक किलोमीटर एरिया के CCTV खंगाल रही है।

DCP साउथ विनीत जायसवाल ने बताया, "परिजनों की तहरीर पर हत्या का मुकदमा दर्ज किया गया है। जल्द की आरोपियों को गिरफ्तार किया जाएगा।"

एक टिप्पणी भेजें

और नया पुराने