जान की अहमियत नहीं, वीडियो जरूरी...साथी की तबीयत खराब होने पर अस्पाताल ले जाने की बजाय पुलिसकर्मी बनाते रहे वीडियो, हो गई मौत

निखिल शर्मा
यूपी के कानपुर से हैरान करने वाली वाली घटना प्रकाश में आई है। मंगलवार दोपहर हेड कॉन्स्टेबल की भीषण गर्मी की वजह से तबीयत खराब हो गई। हेड कॉन्स्टेबल बेहोश कर गिर पड़े, उनका दम उखड़ने लगा, लेकिन साथी पुलिस कर्मी अस्पताल ले जाने की बजाय उनका वीडियो बनाते रहे। इस दौरान हेड कॉन्स्टेबल की मौत हो गई। सोशल मीडिया पर वायरल वीडियों में पुलिस कर्मियों का अमानवीय चेहरा वायरल है।

मूलरूप से झांसी के रहने वाले बृज किशोर सिंह कानपुर पुलिस लाइन में तैनात थे। बृज किशोर सिंह तीन दिनों का अवकाश लेकर अपने घर झांसी जा रहे थे। हेड कॉन्स्टेबल ट्रेन पकड़ने के लिए कानपुर सेंट्रल स्टेशन पहुंचे थे। इसी दौरान उनकी अचानक तबीयत बिगड़ गई और स्टेशन के बाहर बेहोश होकर गिर पड़े।

स्थानीय लोगों ने पानी के छींटे मारे, लेकिन उन्हें होश नहीं आया। चौराहे पर तैनात पुलिस कर्मियों को इसकी सूचना दी गई। मौके पर पहुंचे पुलिस कर्मी उन्हें अस्पताल ले जाने के बजाय वीडियो बनाने लगे। इस दौरान उनकी सांसें उखड़ रही थीं, लेकिन पुलिस कर्मियों को फर्क नहीं पड़ रहा था। किसी ने पुलिस कर्मियों की इस करतूत का वीडियो बनाकर सोशल मीडिया पर वायरल कर दिया।


एसीपी कलक्टरगंज मो. मोहसिन खान के मुताबिक, हेड कॉन्स्टेबल को वीके सिंह को केपीएम अस्पताल में भर्ती कराया गया। जहां उनकी इलाज के दौरान मौत हो गई। वीके सिंह तीन दिनों का अवकाश लेकर झांसी स्थित अपने घर जा रहे थे। शव को कब्जे में लेकर पोस्टमॉर्टम के लिए भेजा गया है। इसके साथ ही आसपास के सीसीटीवी कैमरे भी देखे जा रहे हैं।

और नया पुराने

खबर पढ़ रहे लोग: 0