सभी दुकानें खूले तो बाजार होने वाली भीड़ में आएगी कमी



रिपो० ललित चौधरी

बुलंदशहर, कोरोना संक्रमण की चेन को तोड़ने के लिए प्रदेश सरकार ने 31 मई तक कोरोना क‌र्फ्यू घोषित कर रखा है। इस कारण एक माह से दुकानें बंद है। इससे दुकानदारों के सामने आर्थिक संकट गहराने लगा है। दुकानदारों का कहना है कि अगर सभी दुकानें खुले तो भीड़ कम होगी जिससे संक्रमण फैलने का खतरा भी कम होगा। दुकानदारों ने प्रदेश के सीएम से एक जून से पूर्णतया बाजार खोलने की मांग की है।

इस समय दिन निकलते ही बाजार में खरीदारों की भीड़ उमड़ रही है। सुबह आठ बजे से 11 बजे तक सड़कों पर वाहनों की आवाजाही रहने से जाम लग रहा है। कोरोना गाइडलाइन के अनुसार आवश्यक वस्तुओं की दुकानों को छोड़कर रेडीमेड कपड़े, जूते, ज्वैलर्स, सैनेटरी, फोटोग्राफर, मिठाई, इलेक्ट्रानिक, कास्टमेटिक आदि की दुकानें बंद है। पुलिस कोरोना क‌र्फ्यू का पालन कराने के प्रयास कर रही है लेकिन इसके बावजूद दुकानदार व ग्राहक गाइडलाइन का पालन नहीं कर रहे। दुकानदारों का कहना है कि दुकान न खुलने से बिजली के बिल, बच्चों की स्कूल की फीस, दुकान पर लेबर की मजदूरी के लिए आर्थिक संकट से जूझना पड़ रहा है। व्यापारी अमरीश गोयल ने सरकार से मांग की है कि सभी व्यापारिक प्रतिष्ठानों को खोलने में छूट प्रदान की जाए। सराफा कारोबारी राजकुमार वर्मा का कहना है कि सरकार शर्तों के साथ सभी दुकानें खोलने की अनुमति दे जिससे बाजार में होने वाली भीड़ में कमी आएगी। फोटोग्राफर एसोसिएशन के सचिव प्रीत तेवतिया का कहना है कि दुकान बंद रहने से कामकाज प्रभावित हो रहा है। व्यापारियों को काम करने के लिए कुछ घंटे की छूट दी जाए।

और नया पुराने

खबर पढ़ रहे लोग: 0