अलीगढ़ | हरदुआगंज पुलिस के लिये चुनौती बने चोर, सपेराभानपुर में फ़िर हुई चोरी

 

रिपो० निखिल शर्मा

हरदुआगंज : थाना क्षेत्र के गांव सपेरा भानपुर में चोरी सीरियल वारदातों ने गांव वालों की नींद उड़ा दी है, गुरूवार की रात भी एक विधवा का घर चोरों का निशाना बना, अलमारी का ताला तोडक़र चोर चांदी के जेवर व नगदी निकाल ले गए, चार रातों में ये तीसरी चोरी की बड़ी वारदात है। सपेरा भानपुर स्थित मायके में रहने वाली विधवा मुस्तर बेगम ने बताया कि उसका बेटा तालानगरी में नौकरी करता है वह घर पर अकेली रहती हैं। गुरूवार की रात को वह छत पर सोई थी, मुख्य गेट का अंदर से ताला लगा था, रात को दीवार कूदकर दाखिल हुए चोर एक कमरे में रखी अलमारी का लॉकर तोडक़र करीब 500 ग्राम चांदी के आभूषण, जिनमें एक गले का हार, एक हाथ फूल छल्ले, चूड़ी, कान के झाले, दो अंगूठी व एक झुमकी व नौ हजार रुपये कैश ले गए। सुबह कमरे में झाड़ू लगाने गई मुस्तर बेगम को वारदात का पता चलने पर थाना पुलिस को सूचना दी गयी। पुलिस ने पहुंचकर जांच पड़ताल की,

ग्रामीणों की दहशत में कट रहीं रातें 

सपेरा भानपुर में बीती कई रातों से लगातार हो रही चोरी की वारादातों से ग्रामीण इस कदर खौफजदां हैं कि जागकर रात काट रहे हैं, चोरी की पहली वारदात 23 मई को सपरो भानपुर के माजरा नगला गिरधारी में हुई थी, यहां के मुख्तियार सिंह के घर के कमरे में रखी अलमारी का ताला तोडक़र चोर 65 हजार नगदी व 3 लाख के जेवर ले गए थे, वहीं 24 मई की रात फिर चोर पहले रामवीर सिंह के घर में घुसे जहां जगार होने पर भाग निकले, उसके बाद गांव के दूसरे छोर पर स्थित महावीर सिंह के घर में दाखिल होकर कमरे में रखी अलमारी से 20 हजार नगदी व करीब साढ़े 4 लाख का जेवर ले गए। दूसरी वारदात के बाद पुलिस ने डॉग स्क्वायड व फोरेंसिक टीम की मदद से साक्ष्य संकलन कर  मुकदमा दर्ज किए थे, वहीं 25 मई की रात फिर से आए चोरों पर नजर पडऩे पर मचे शोर के बाद ग्रामीण व पुलिस रात को मक्का के खेत को घेरे रहे थे, इसके बाद गुरुवार की रात को नगला गिरधारी के ग्रामीणों ने खुद ही सजगता बढ़ा दी, तो मुस्तर बेगम का घर चोरों का निशाना बना, हैरानी की बात ये कि तीनों वारदातों को अंजाम देने का तरीका हूबहू था। मुस्तर बेगम ने अज्ञात चोरों के खिलाफ तहरीर दी है। एसओ रामवकील का कहना है कि पुलिस टीम जांच में जुटी है, चोर जल्द पकड़े जाएंगे।

देखें वीडियो,,,


और नया पुराने

खबर पढ़ रहे लोग: 0