अलीगढ़ | पर्यटन स्थल शेखा झील पर खर्चे का ब्यौरा न दे सके विभागीय अफसर



 अलीगढ़ : अलीगढ़ के पर्यटन स्थल शेखा झील (पक्षी विहार) के लिए पिछले पांच साल में कितनी धनराशि आवंटित हुई, इसमें से कितना खर्चा किया गया? ये जानकारी भी विभागीय अफसर आरटीआइ में नहीं दे सका। जवाब में कहा है कि इस संबंध में जानकारी उपलब्ध नहीं है। यही नहीं, शेखा झील में तैनात कर्मचारियों का ब्याैरा भी गोलमोल दिया है। आरोप है कि शेखा झील की देखरेख के लिए कोई कर्मचारी तैनात ही नहीं है। सरकार इसके रखरखाव के लिए करोड़ों रुपये जारी करती है, लेकिन इसका लेखा-जोखा नहीं है। कर्मचारियों का जो ब्यौरा दिया है, वह सेक्शन का है, पर्यटन स्थल का नहीं। 


आरटीआई के तहत मांगी जानकारी


भ्रष्टाचार विरोधी सेना के अध्यक्ष केशव देव ने शेखा झील पक्षी संरक्षण एवं पर्यटन केंद्र सामाजिक वानिकी, वन विभाग से आरटीआइ के तहत एक मार्च को कुछ बिंदुओं पर सूचनाएं मांगी थीं। पूछा था, शेखा झील पर कुल कितने कर्मचारी तैनात हैं। इनके नाम, पद, कार्यकाल, जिम्मेदारियों के विवरण के संबंध में सूची मांगी गई। इसके अलावा शेखा झील के लिए वर्ष 2015 से फरवरी 2021 के बीच कितनी धनराशि आवंटित हुई, कितनी खर्च हुई, इसकी जानकारी भी उपलब्ध कराने काे कहा। आवेदक ने कहा कि निर्धारित समय पर जवाब न मिलने पर छह अप्रैल को प्रथम अपील गई थी। 21 मई को आवेदन का जवाब आया है। ये पत्र 20 मार्च को जारी किया गया था, जो दो माह बाद पहुंचा है। प्रभागीय निदेशक सामाजिक वानिकी प्रभाग द्वारा जारी इस पत्र में लिखा है कि शेखा झील पक्षी विहार अलीगढ़ रेंज के धनीपुर सेक्शन के अंतर्गत है। सेक्शन अधिकारी रघुवीर सिंह, वन रक्षक, बीट प्रभारी, माली तैनात हैं।


शेखा झील के कर्मचारियों के बारे में नहीं बताया गया


आवेदक का कहना है कि सूचना सेक्शन में तैनात स्टाफ की दी गई है। शेखा झील पर तैनात कर्मचारियों के बारे में नहीं बताया गया। न ही आवंटित धनराशि और खर्चे का ब्यौरा ही दिया है। इस सवाल के जवाब में कहा है कि ये सूचना कार्यालय में उपलब्ध नहीं है। आवेदक ने कहा कि सोचने वाली बात है कि इतने बड़े पक्षी विहार में देश-विदेश से पक्षी भ्रमण को आते हैं। दूर-दूराज से हजारों व्यक्ति यहां सैर सपाटा करते हैं। सरकार इसके रखरखाव और सुंदरीकरण के लिए करोड़ों रुपए हर वर्ष जारी करती है, लेकिन इसका लेखा-जोखा अफसरों पर नहीं है।

और नया पुराने

खबर पढ़ रहे लोग: 0