बुलंदशहर। जनपद में कोरम पूरा नहीं होने पर 366 प्रधान शपथ नहीं ले पाएंगे।

  


नव गठित ग्राम पंचायतों की पहली बैठक 27 मई को होगी। विभागीय अधिकारियों के अनुसार शासन का आदेश मिलते ही तैयारी शुरू कर दी गई है।

रिपो० ललित चौधरी 

शासन ने शपथ ग्रहण के लिए कार्यक्रम जारी कर दिया है। इसके तहत 25 और 26 मई को शपथ ग्रहण होगी। इस दौरान जनपद के 580 निर्वाचित प्रधान शपथ लेंगे। डीपीआरओ के अनुसार शासनादेश के तहत ही ग्राम प्रधान और ग्राम पंचायतों को शपथ दिलाई जाएगी।

पंचायत चुनाव के बाद कोरोना संक्रमण को देखते हुए ग्राम पंचायतों के गठन और प्रधानों के शपथ ग्रहण की कार्रवाई ठंडी पड़ गई थी। ग्राम प्रधान भी पंचायत के गठन और शपथ के बाद कमान मिलने का इंतजार कर रहे हैं। गत दिनों अपर मुख्य सचिव पंचायती राज मनेाज कुमार सिंह ने वीडियो कांफ्रेंसिंग से ग्राम पंचायतों के गठन व प्रधानों के शपथ ग्रहण के संबंध में जानकारी ली थी। इस पर मुख्य सचिव की वीडियो कांफ्रेंसिंग के बाद पंचायतों के गठन और प्रधानों के शपथ ग्रहण की सुगबुगाहट शुरू हो गई थी। इस समय जनपद में दो ग्राम पंचायत और 3591 ग्राम पंचायत सदस्यों के पद रिक्त चल रहे हैं। इसके चलते जनपद की 946 ग्राम पंचायतों में 366 ग्राम प्रधान भी शपथ ग्रहण में भागीदारी नहीं कर सकेंगे। जबकि शपथ ग्रहण में 580 प्रधान भागीदारी करेंगे। अब शासन ने शनिवार को आदेश पंचायत के गठन और प्रधानों के साथ ग्राम पंचायत सदस्यों के शपथ ग्रहण का कार्यक्रम जारी कर दिया है। डीएम समेत डीपीआरओ को भेजे गए आदेश के तहत पंचायती राज अधिकारी को 24 मई तक ग्राम पंचायतों के गठन और शपथ ग्रहण में शामिल होने वाले प्रधानों की जानकारी जुटानी होगी। पंचायतों का गठन और प्रधान समेत ग्राम पंचायत सदस्यों को 25 और 26 मई को ऑनलाइन शपथ ग्रहण करवाई जाएगी। इसके बाद नव गठित ग्राम पंचायतों की पहली बैठक 27 मई को होगी। विभागीय अधिकारियों के अनुसार शासन का आदेश मिलते ही तैयारी शुरू कर दी गई है।

और नया पुराने

खबर पढ़ रहे लोग: 0