लोकतंत्र का चौथा स्तंभ होकर भी सुविधाओं से वंचित है ग्रामीण पत्रकार

 


वरिष्ठ पत्रकार अनार सिंह ने कहा की पत्रकार हमेशा पीड़ित, शोषित, गरीब तथा मजलूम के हक की लड़ाई लड़ता है, तथा उन्हें उनका हक दिलाकर अंजाम तक पहुंचाता है। इसके बावजूद पत्रकारों के हित को लेकर न ही शासन आगे आता और ना ही प्रशासन

डेस्क समाचार दर्पण लाइव

ग्रामीण पत्रकार एसोसिएशन के जिलाध्यक्ष सुखवीर शर्मा के निर्देश पर संगठन की तहसील कोल इकाई के पत्रकारों की एक बैठक शेखाझील स्थित होटल पर संपन्न हुई। जिसमें विजयगढ़, अकराबाद, जलाली, हरदुआगंज और जवां क्षेत्र के पत्रकारों ने हिस्सा लिया।

कार्यक्रम की अध्यक्षता कर रहे वरिष्ठ पत्रकार अनार सिंह ने कहा की पत्रकार हमेशा पीड़ित, शोषित, गरीब तथा मजलूम के हक की लड़ाई लड़ता है, तथा उन्हें उनका हक दिलाकर अंजाम तक पहुंचाता है। इसके बावजूद पत्रकारों के हित को लेकर न ही शासन आगे आता और ना ही प्रशासन। उन्होंने शासन - प्रशासन से पत्रकारों को आयुष्मान कार्ड मुहैया कराने तथा श्रमजीवी पत्रकार के रूप में काम कर रहे जनपद के डेढ़ सौ से अधिक पत्रकारों को आर्थिक मदद दिलाने की मांग रखी।

अनूप यादव व करन चौधरी ने वर्तमान परिस्थितियों में पत्रकारों के समक्ष आ रही चुनौतियों तथा उनके हल पर चर्चा करते हुए अपनी लेखनी को समाजिक सरोकारों से जोड़कर मजबूती के साथ डटे रहने की बात कही। कहा की संगठन के किसी भी पत्रकार के साथ ज्यादती बर्दाश्त नहीं होगी, ऐसी किसी भी परिस्थिति में संगठन पूरी मजबूती से पीड़ित पत्रकार के साथ खड़ा रहेगा।

संतोष शर्मा व अमित वार्ष्णेय ने पत्रकारिता के व्यवसायिकरण तथा कर्तव्य परायणता के बीच संतुलन बनाए हुए स्वच्छ पत्रकारिता के मंत्र दिए।

कार्यक्रम का संचालन तहसील कोल अध्यक्ष जितेंद्र शर्मा ने किया। उन्होंने संगठन की नीतियों और निर्देशों को लेकर चर्चा की तथा पत्रकारों से एकता के सूत्र में बंध कर कार्य करने की अपील की।

कार्यक्रम के शुभारंभ से पूर्व कोरोना की दूसरी लहर की भेंट चढ़े दिवंगत पत्रकारों की याद में दो मिनट का मौन धारण किया गया।जिसके बाद कार्यक्रम अध्यक्ष अनार सिंह का फूलमालाओं से स्वागत किया

कार्यक्रम में बलवीर सिंह, आशीष शर्मा, सुधाकर उपाध्याय, डॉ. प्रिय दर्शन, आनंद कुमार यादव, अमित जादौन आदि मौजूद रहे।

और नया पुराने

खबर पढ़ रहे लोग: 0