अलीगढ़ | हरदुआगंज क्षेत्र के भट्टे पर मजदूर की संदिग्ध मौत, जबरन शव जलाने का आरोप


सिकंदर का कहना है कि उसे रास्ते मे पुलिस मिली जिससे शव को बचाने की मांग की मगर वह थाने जाकर तहरीर देने की कहकर लौट गई

रिपो० निखिल शर्मा 

हरदुआगंज : कस्बा क्षेत्र के भट्ठा पर ईंट पाथने का काम कर रहे मजदूर की बीती रात संदिग्ध परिस्थितियों में मौत होने पर भट्टा मालिक व ठेकेदार पर बिना पोस्टमार्टम कराये शव जला देने का आरोप लगा है।

बिहार के जनपद गया के गुरवा थाना क्षेत्र के गांव भलुआर कुटिया निवासी उमेश व उसका भाई सिकंदर नो माह पहले पत्नी बच्चों के साथ हरदुआगंज क्षेत्र के भट्टा पर ईंट पाथने आया था, रविवार की रात को फड़ में सोए उमेश 32 वर्ष की संदिग्ध परिस्थितियों में मौत हो गई, उसके भाई सिकंदर ने बताया कि मामले की जानकारी भट्टा मालिक व ठेकेदार को देते हुए शव का पोस्टमार्टम कराने की बात कही, आरोप है कि भट्टा मालिक व ठेकेदार शव को गाड़ी से हरदुआगंज ले आए जहां पहले से तैयार चिता पर शव रखकर आग लगा दी, मामले की सूचना डायल-100 पर देते हुए सिकंदर थाने को भागा, सिकंदर का कहना है कि उसे रास्ते मे पुलिस मिली जिससे शव को बचाने की मांग की मगर वह थाने जाकर तहरीर देने की कहकर लौट गई,  शाम को थाने पहुंचे सिकंदर ने तहरीर दी, पुलिस ने अनिभिज्ञता जाहिर की है।

और नया पुराने

खबर पढ़ रहे लोग: 0