अलीगढ़ | हरदुआगंज के नगला गिरधारी में चोरियां, लखनऊ से कार्यवाही के आदेश

 

- स्मार्ट विलेज फाउंडेशन के प्रबंधक विपिन चौधरी ने भेजा शिकायती मेल, एडीजी ने अलीगढ पुलिस से मांगी आख्या

डेस्क समाचार दर्पण लाइव

अलीगढ़। हरदुआगंज के नगला गिरधारी में सीरियल चोरियों को 12 दिन बीत चुके हैं, पुलिस अभी भी खाली हाथ है। बीते बुधवार इस प्रकरण की हरकत डीजीपी कार्यालय में भी हुई। वहां से प्रकरण एडीजी लोक शिकायत के यहां पहुँचा और उसी दिन अलीगढ पुलिस को कार्यवाही कर आख्या प्रस्तुत करने के आदेश दिए गए हैं।

बता दें कि स्मार्ट विलेज फाउंडेशन का  मुख्यालय नगला गिरधारी में ही है। चोरी के शिकार दोनों घर प्रबंधक विपिन चौधरी के परिवार के ही हैं। विपिन चौधरी ने 2 जून को डीजीपी को भेजे मेल में हरदुआगंज पुलिस की कार्यशैली से निराशा व्यक्त की है। बीट सिपाही, चौकी इंचार्ज एवं थानाध्यक्ष की भूमिका पर संदेह व्यक्त किया है। तेज तर्रार निष्पक्ष पुलिस टीम से चोर पकड़वाकर चोरी गए माल को बरामद कराने की मांग की गई है। इसके लिए सर्विलांस की बीटीएस यूनिट के इस्तेमाल पर भी जोर दिया गया है। शिकायत में खासतौर से कहा गया कि  घटनाओं में बदमाशों का अंदाज चोरों वाला नहीं है, दबंग शैली में चोरी की लगातार घटनाओं को अंजाम दिया है। गौर हो कि गांव में पहली चोरी 23 मई को मुख्तियार सिंह पुत्र चंद्रपाल सिंह और 24 मई की रात ही दूसरी चोरी महावीर सिंह पुत्र महेंद्र सिंह के घर हुई। दोनों घरों से चोर 85 हजार नगदी सहित 8 लाख के जेवर ले गए हैं। पुलिस दूसरी घटना के बाद सक्रिय हुई। एसपी देहात के आदेश पर डॉग स्क्वायड एवं फोरेंसिक टीम ने भी साक्ष्य जुटाये थे। जहरीली शराब कांड में व्यस्तता के चलते सर्विलांस की बीटीएस यूनिट अभी इसमे काम नहीं कर सकी है। लेकिन थाना पुलिस बीटीएस के लिए सक्रिय है। आईओ ने अफसरों को पत्र भी लिखा है। उधर, ग्रामीण घटनाओं के बाद से ही रात को जागकर घरों की रखवाली कर रहे हैं। वे हरहाल में घटनाओं का खुलासा चाहते हैं। सूत्र बताते हैं कि लखनऊ से आदेश के बाद से ही अफसर हरदुआगंज पुलिस पर सख्त नाराज हैं, पुलिसिंग सुधारने की हिदायत दी गयी है। पुलिसिंग न सुधरी तो कार्यवाही भी सम्भव है।

और नया पुराने

खबर पढ़ रहे लोग: 0