अलीगढ़ | घर में संदिग्ध परिस्थितियों में दुपट्टे से लटका मिला विवाहिता का शव

डेस्क समाचार दर्पण लाइव

अलीगढ : सीमावर्ती जिला बुलंदशहर के थाना जरगवां क्षेत्र के गांव बागी नगला में एक विवाहिता का शव संदिग्ध परिस्थितियों में घर में ही दुपट्टे से लटका मिला। सूचना पाकर विवाहिता के ससुराल पहुंचे मायके पक्ष के लोगों ने दहेज की मांग पूरी न होने पर उसकी फांसी लगाकर हत्या करने का आरोप लगा कर हंगामा खड़ा कर दिया। सूचना पर पहुंची इलाका पुलिस ने स्वजन को समझाते हुए शांत किया और शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। वही मृतका के भाई ने पति सहित छह लोगों के खिलाफ दहेज हत्या की तहरीर पुलिस को दे दी है।

दो साल पहले हुई थी शादी

थाना दादों क्षेत्र के गांव और ओंदा खेड़ा निवास श्यामवीर सिंह ने अपनी 23 वर्षीय पुत्री सुनीता का विवाह दो वर्ष पूर्व रामघाट थाना क्षेत्र के गांव बागी नगला में विकेश यादव के साथ दान दहेज के साथ की थी। आरोप है कि शादी में दिए गए दहेज से ससुरालीजन खुश नहीं थे, जिसके चलते ससुरालीजन विवाहिता को आए दिन मारते पीटते थे। साथ ही ससुरालियों ने विवाहिता का एक बार गर्भपात भी करा दिया था। चार पहिए की गाड़ी की मांग पूरी न होने पर ससुरालीजनों ने विवाहिता के गले में दुपट्टे से फंदा लगाकर मौत के घाट उतार दिया। सूचना मिलने पर मायके पक्ष के लोग भारी संख्या में विवाहिता के ससुराल पहुंच गए। जहां उन्होंने हत्या का आरोप लगाते हुए हंगामा खड़ा कर दिया।

पुलिस ने शव को पोस्‍टमार्टम के लिए भेजा

सूचना पर रामघाट थाना प्रभारी वीरेंद्र सिंह मय पुलिस बल के घटनास्थल पर पहुंच गए और महिला के शव को फंदे से नीचे उतारा और तहसीलदार राजकुमार भास्कर की देखरेख में महिला के शव को पोस्टमार्टम के लिए जिला मुख्यालय भेज दिया। मृतका के भाई दुर्गेश ने पति विकेश, ससुर राजेंद्र सिंह, सास कमलेश देवी, ननंद नीरेश, नीतू व सोनम सहित छह लोगों के खिलाफ थाने में तहरीर दे दी l रामघाट थाना प्रभारी वीरेंद्र सिंह ने बताया कि मृतका के भाई की तहरीर के आधार पर आरोपितों के खिलाफ मुकदमा पंजीकृत किया जा रहा है l

और नया पुराने

खबर पढ़ रहे लोग: 0