You have to wait 20 seconds.


अलीगढ़ | हरदुआगंज थाने के दारोगा पर फैसले के नाम पर रिश्वत मांगने का आरोप, भाजपा नेता से हुई नोंकझोंक

रिपो० निखिल शर्मा

हरदुआगंज : कस्बा में दो भाइयों के बीच हुई कहासुनी विवाद में आपसी सहमति से फैसला होने बाद भी दारोगा ने दो हजार की रिश्वत मांगते हुए जेल भेजने की धमकी दे डाली, जिसकी खबर पाकर थाने पहुंचे भाजपा नेता- दारोगा में तीखी नोंकझोंक हुई, मामले की शिकायत सांसद सतीश गौतम से की गई है।

हरदुआगंज के मोहल्ला जहांगीराबाद में बुधवार शाम को दो भाइयों में कहासुनी होने की सूचना पाकर पुलिस दो लोगों को थाने ले आई थी, वहीं गुरूवार सुबह रिश्तेदारों ने आकर फैसला करा दिया, वहीं दोनों पक्षों से एक-एक हजार रुपये की रिश्वत मांगने का आरोप लगाते हुए भाजपा नेता सभासद आशीष गौड़ को सूचना दे दी, जिसपर आशीष गौड़ तुरंत थाने पहुंचे जहां देखा कि लिखित फैसलानामा देने के बाद भी सुनवाई कर रहे दारोगा दोनों को जेल भेजने की तैयारी कर रहे थे, सभ्रांत लोगों द्वारा फैसला होने की कहने पर दारोगा द्वारा उन्हें दलाल कहने पर भाजपा नेता व दारोगा के बीच नोंकझोंक हुई, थाना प्रभारी राजेश कुमार के दखल के बाद फैसलानामा मंजूर किया गया, आशीष गौड़ ने बताया कि दारोगा फैसले के नाम पर रिश्वत मांग रहे थे, बीते दिनों गांव मोरथल में रामलीला में हुई मारपीट के मामले में फैसले के नाम पर दारोगा द्वारा 15000 रूपये रिश्वत लेने की चर्चा है, जलाली चौकी पर तैनात रहने के दौरान दुकानों में तोडफ़ोन करने व दुकानदारों से मारपीट करने के आरोप के बाद बीते माह ही उन्हें हरदुआगंज बुलाया गया है, यहां भी खुलेआम रिश्वत मांगने व फरियादियों से अभद्र व्यवहार करने की शिकायतें हैं, पूरे वाक्ये से सांसद सतीश गौतम को अवगत कराया गया है।

एक टिप्पणी भेजें

और नया पुराने