बुलंदशहर। एसडीएम को सौंपा मुख्यमंत्री के नाम संबोधित पांच सूत्रीय ज्ञापन, तहसील में खतौनी निकलवाने पर हो रही है अवैध वसूली

 

ब्यूरो ललित चौधरी

शिकारपुर : भारतीय किसान यूनियन महाशक्ति के पदाधिकारियों ने राष्ट्रीय अध्यक्ष धर्मेंद्र सिंह, के नेतृत्व में शिकारपुर तहसील पहुंच कर किसानों की विभिन्न मांगों को लेकर तहसील में प्रदर्शन कर एसडीएम आशीष कुमार, को मुख्यमंत्री के नाम संबोधित पांच सूत्रीय ज्ञापन सौंपा। 

राष्ट्रीय अध्यक्ष धर्मेंद्र सिंह, ने मुख्यमंत्री को भेजे ज्ञापन में किसानों की फसलों पर प्रतिवर्ष 25 प्रतिशत रेट बढ़ाने दुधारू पशु की मौत पर 50 हजार रूपये मुआवजा देने की मांग उठाई। भारी बारिश से बर्बाद हुई फसलों का अभी तक मुआवजा ना देने का आरोप लगाते हुए अभिलंब मुआवजा देने की मांग की आरोप लगाया कि बुलन्दशहर काली नदी में बिना बांध लगे पानी छोड़ने पर किसानों की फसल बर्बाद हो जाती है कटान पर अभिलंब बांध बनवाने आदि की मांग की।

इस दौरान ज्ञापन देने वालों में राष्ट्रीय अध्यक्ष धर्मेंद्र सिंह, नितिन मोदी उपाध्यक्ष मेरठ मंडल, इकराम खान, जगत सिंह सिसोदिया, विष्णु त्यागी, जय किशोर, संजय शर्मा, डॉ राहुल कुमार, आस मोहम्मद, रितेश जादौन, आशुतोष शर्मा, नाजिम खान, आदि शामिल रहे। 

खतौनी निकलवाने पर अवैध वसूली 

वहीं खतौनी के निर्धारित शुल्क से अधिक वसूलने पर बिफरे तहसील परिसर में भारतीय किसान यूनियन महाशक्ति के प्रदर्शन के दौरान एक किसान खतौनी निकलवाने पहुंचा खतौनी निकालने के निर्धारित शुल्क 15 रूपये प्रति खतौनी की फीस की जगह बीस रूपये फीस वसूलने की शिकायत पर किसान भड़क गए। किसानों ने तत्काल एसडीएम आशीष कुमार, से शिकायत कर पीड़ित किसान से अधिक वसूले गए रूपये वापिस दिलाये। 

इस मौके पर एसडीएम आशीष कुमार, ने खतौनी निकलने वाले कर्मचारी को जमकर लताड़़ लगाई खतौनी की फीस निर्धारित शुल्क 15 रूपये ही लेने को कहा भविष्य में पुनः शिकायत मिलने पर बर्खास्त करने की चेतावनी देकर छोड़़ दिया।

एक टिप्पणी भेजें

और नया पुराने