बुलंदशहर। किसानों ने कब्जे में लेकर आधे घंटे रखा टोल फ्री, टोल प्रशासन को 40 हजार का नुकसान, किसानों ने किया हंगामा जमकर की नारेबाजी-प्रदर्शन

रिपो० रिशू कुमार

बुलन्दशहर। गुलावठी जनपद में आदर्श आचार संहिता लागू होने के बावजूद, भारतीय किसान यूनियन असली गुट के जिला अध्यक्ष देवेंद्र सिंह बाना के नेतृत्व में कई दर्जन किसान शुक्रवार को हाइवे-234 पर हापुड़ की सीमा में बने गुलावठी-कुराना टोल प्लाजा पर एकत्र हो गए और नारेबाजी करते हुए किसानों के वाहनों से टोल शुल्क वसूलने के विरोध में हंगामा खड़ा कर दिया किसानों ने टोल पर कब्जा जमाकर, दोनों तरफ की लाइनों को आधे घंटे तक टोल फ्री कर दिया।

विरोध करते हुए किसानों के वाहनों से टोल ना लेने की मांग पर अड़ गए किसानों के हंगामे की सूचना पर पुलिस प्रशासन मौके पर पहुंच गया पुलिस ने कोविड-19 प्रोटोकॉल और आदर्श आचार संहिता का हवाला देते हुए किसानों को प्रदर्शन करने से रोका और उन्हें तितर-बितर किया। 

आधे घंटे तक वाहन बिना टोल दिए गुजरते रहे टोल प्लाज़ा प्रबंधक सहयोगी विनय मिश्रा ने बताया प्रदर्शन करने वाले किसान अपने निजी वाहनों से टोल शुल्क वसूलने का विरोध कर रहे थे, किसान अपने निजी वाहनों को टोल फ्री कराने की मांग कर रहे थे जबकि एन एच आई के द्वारा किसानों के कृषि यंत्र, कृषि उपयोगी वाहन तथा मंडी में फसलों के क्रय-विक्रय हेतु जाने वाले वाहनों को ही छूट की सीमा के दायरे में रखा गया है इसके अतिरिक्त किसानों के अन्य निजी कार आदि वाहनों को कोई छूट प्राप्त नहीं है। 

प्रदर्शन करने वालों में कई दर्जन किसान व कुछ महिलाएं भी शामिल रहीं हंगामा काट कर किसानों ने जबरन टोल फ्री कर दिया था इससे टोल प्रशासन को करीब 40 हजार का नुकसान हो गया, किसानों ने प्रदर्शन भी किया पुलिस ने किसानों को समझा-बुझाकर शान्त किया और टोल प्रतिनिधियों से वार्ता के बाद किसान वापिस लौट गए इशाक खान, मैनेजर कुराना टोल प्लाजा ।

और नया पुराने

खबर पढ़ रहे लोग: 0