You have to wait 20 seconds.


बुलंदशहर। कार्यसमिति की मीटिंग से लोटते समय भाजपा मंडल मंत्री पर हुआ जानलेवा हमला, 5 नामजद के खिलाफ दी तहरीर

 

ब्यूरो ललित चौधरी

बुलंदशहर/अहार। अहार बिरौली मंडल कार्यसमिति की मीटिंग से वापस लौट रहे भाजपा मंडल मंत्री पर जानलेवा हमला हो गया। आरोपी हमला करके फरार हो गए। घटना में मंडल मंत्री को काफी गंभीर चोट आई है। उन्होंने अपने साथियों को बुलाया। जिसके बाद उन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया। जहां उनकी हालत फिलहाल ठीक है।

मंडल मंत्री गौतम ठाकुर ने पांच नामजद आरोपियों पर मुकदमा कराया है। जिनके नाम ईश्वर, हिमाचल, दिनेश निवासी अहार, अमित कुमार निवासी कल्याणपुर व विपिन कुमार निवासी गांव हसनपुर चार पांच अज्ञात हमलावरों ने अवंतिका देवी चौराहे के नजदीक लोहे की रॉड से हमला कर दिया।

मंत्री के उपर चुनावी हमला हुआ

पीड़ित ने बताया की उनके उपर चुनाव को लेकर हमला किया गया है। इससे पहले भी आरोपी घर के बाहर आकर गाली-गलौज करके भाग गए थे। लेकिन आज मौका देख जानलेवा हमला कर दिया। गनीमत रही की मैं बाल-बाल बच गया। 

पीड़ित ने तहरीर देते हुए पुलिस से गुहार लगाई है कि आरोपियों को जल्द से जल्द पकड़ा जाए। थाना प्रभारी शैलेंद्र प्रताप ने बताया कि तहरीर मिल गई है। जल्द ही दोषियों को पुलिस द्वारा गिरफ्तार कर कानूनी कार्रवाई अमल में लाई जाएगी।


बुलंदशहर। अग्निपथ : दिल्ली जाते कांग्रेसियों को हिरासत में लिया

बुलंदशहर/सिटी। सेना भर्ती की अग्निपथ योजना के विरोध कार्यक्रम में शामिल होने के लिए दिल्ली जाते कांग्रेस के पदाधिकारियों एवं कार्यकर्ताओं को नगर पुलिस ने हिरासत में ले लिया। कुछ देर बाद ही सभी को चेतावनी देकर रिहा कर दिया गया।

अग्निपथ योजना के विरोध में देश में विभिन्न स्थानों पर छात्र एवं विपक्षी राजनैतिक दलों के कार्यकर्ता आंदोलनरत हैं। सोमवार को दिल्ली के जंतर-मंतर पर विरोध-प्रदर्शन का कार्यक्रम रखा गया था, जिसमें शामिल होने के लिए बुलंदशहर के कांग्रेस के पूर्व जिलाध्यक्ष श्यौपाल सिंह, महेश शास्त्री, देवेंद्र राजा, नाफे अंसारी, आदेश मुदगल, आस मोहम्मद कुरैशी, नरेंद्र सिंह, शाहिद प्रधान, देवदत्त शर्मा समेत कार्यकर्ता विरोध कार्यक्रम में शामिल होने के लिए दिल्ली जा रहे थे।

नगर पुलिस द्वारा कालाआम पुलिस चौकी के निकट कांग्रेस पदाधिकारियों एवं कार्यकर्ताओं को हिरासत में ले लिया गया। इन सभी को पुलिस वाहन में बैठा लिया गया। कुछ ही देर बाद सभी कांग्रेस कार्यकर्ताओं को माहौल न बिगाड़ने की चेतावनी देते हुए रिहा कर दिया गया। 

एसएसपी श्लोक कुमार का कहना है कि थाना प्रभारियों को सतर्कता बरतने और असामाजिक तत्वों के खिलाफ सख्त कार्रवाई के लिए निर्देशित किया गया है।

एक टिप्पणी भेजें

और नया पुराने