You have to wait 20 seconds.


बुलंदशहर। छेड़खानी से तंग आकर 9वीं की छात्रा ने दी जान : भरी पंचायत में पैर छूकर माफी मांगने पर नहीं सुधरे 3 युवक,पंचायत के बाद भी धमकाया और गालियां दी

 

रिपो० राजेश शर्मा

बुलंदशहर/अनूपशहर। अनूपशहर क्षेत्र के एक गांव में छेड़खानी से परेशान 9वीं की छात्रा ने बुधवार को फांसी लगाकर सुसाइड कर लिया। उसे गांव के 3 लड़के परेशान करते थे। उनमें से एक ने गांव में अफेयर की अफवाह भी फैला दी थी। इससे आहत परिवार ने गांव में पंचायत की। पंचायत में लड़कों ने पैर पकड़कर माफी मांगी। लेकिन पंचायत खत्म होते ही आरोपी लड़कों ने पीड़िता को धमकी दे डाली। गालियां भी दी। इससे परेशान होकर छात्रा ने घर के कमरे में फांसी लगाकर जान दे दी। पुलिस ने आरोपियों पर केस दर्ज कर लिया है।

पिता बोले- मेरी बेटी पढ़ने में बहुत अच्छी थी

यह पूरा मामला अनूपशहर तहसील के एक गांव का है। मृतका के पिता ने कहा, मेरी बेटी पढ़ने में बहुत अच्छी थी। वह सिर्फ पढ़ाई से मतलब रखती थी। मेरे बेटे का आरोपी लड़कों से विवाद भी हुआ था। बेटी ने जब आपबीती बताई तो 6 जून को गांव में पंचायत हुई थी। पंचायत में तीनों लड़कों ने बेटी से पैर छूकर माफी मांगी थी।

लड़कों को समझाया भी गया था कि वो आगे से छात्रा को परेशान नहीं करेंगे। लेकिन लड़के उसके बाद भी नहीं माने। वो लोग लड़की को परेशान करते रहे। परिवार की शिकायत पर लड़कों को फिर से डांटा गया। जिसके बाद लड़कों ने छात्रा को धमकी दे डाली। साथ ही उसके परिवार के लिए भी अपशब्द बोले। इसी बात से परेशान होकर छात्रा ने घर के कमरे में फांसी लगाकर जान दे दी।

केक काटने पर कहा था अफेयर की बात

छात्रा के चाचा ने बताया कि उनकी भतीजी का किसी से अफेयर नहीं चल रहा था। वो बहुत सीधी साधी लड़की की थी। 14 अप्रैल को उसने बाबा साहब आंबेडकर की जयंती का केक काटा था। तभी गांव के एक युवक ने अपने दोस्तों से कहा कि इससे उसकी बातचीत होती है। तभी से उसको लेकर गांव में उल्टी सीधी बातें होने लगीं। इस बात से वो भी बहुत परेशान थी।

6 जून को तीनों आरोपियों ने पंचायत में दोबारा ऐसी हरकत न करने का वादा किया था। 7 जून को उन लोगों ने फिर से मेरी भतीजी को परेशान किया। उसने पूरी बात घर पर आकर बताई। जिसके बाद हम लोग फिर से पंचायत के पास गए। हम लोगों ने कहा कि वो तीनों अभी भी नहीं सुधरे हैं। फिर से उल्टी सीधी बातें बोल रहे हैं।

पंचायत ने फिर से उन तीनों को फटकार लगाई। वहां से निकलने के बाद उन लोगों ने मेरी भतीजी को धमकाया। उसे कहा कि तुम्हारे बाप ने हम लोगों की शिकायत करके क्या कर लिया? उन लोगों ने घर वालों की बेइज्जती भी की। इस बात से मेरी भतीजी बहुत आहत हुई और उसने अपनी जान दे दी।

आरोपियों को पूरा परिवार गांव से फरार

पुलिस ने पिता की तहरीर पर गांव के तीनों युवकों पर केस दर्ज कर लिया है। युवकों पर छात्रा को आत्महत्या के उकसाने के तहत केस दर्ज किया गया है। युवकों के घरों पर दबिश दी जा रही है। उनका पूरा परिवार अभी फरार है। पुलिस ने छात्रा के शव को पोस्टमार्टम के बाद परिवार को सौंप दिया है। मामले में सीओ उमेश कुमार पांडे ने बताया कि तीनों आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए पुलिस टीम गठित कर दबिश दी जा रही है।

एक टिप्पणी भेजें

और नया पुराने