जलाली में तैनात ईओ की शासन ने बैठाई जांच गड़बड़ी करने के लगे थे आरोप

निर्माण कार्य व टेंडर के विरुद्ध काम कराए जाने का है ईओ पर आरोप

-अब मामले की जांच निदेशक डायरेक्ट्रेट के हवाले, दर्ज होंगे बयान

-फतेहपुर में 2015 में तैनाती के दौरान ईओ पर गड़बड़ी के लगे थे आरोप

रिपो. अभिषेक चौधरी

जलाली में तैनात ईओ की शासन ने पुराने मामले में जांच बैठा दी है। तीन मामलों में आरोप पत्र शासन की ओर से प्रशासन को रिसीव कराया गया है। जिसमें ईओ से जवाब मांगा गया है। फतेहपुर की नगर पंचायत बहुआ में 2015 में तैनाती के दौरान निर्माण कार्यों व टेंडर विपरीत कार्य कराने का आरोप है। प्रशासन ने ईओ जलाली को शासन से आया पत्र रिसीव कराकर शासन को दोबारा भेज दिया है।

वर्तमान में जलाली नगर पंचायत में तैनात ईओ राजकुमार की नगर निकाय निदेशालय के डायरेक्ट्रेट की ओर से जांच की जा रही है। एक सप्ताह पहले निकाय विभाग में शासन से जांच पत्र आया था। जिसको निकायों को नोडल अधिकारी एवं एडीएम सिटी राकेश कुमार पटेल ने ईओ को पत्र रिसीव कराते हुए शासन को सूचना प्रेषित कर दी है। फतेपुर की नगर पंचायत बहुआ में 2015 में ईओ की तैनाती के दौरान शास्त्री नगर बारातशाला के निर्माण में टेंडर विपरीत काम कराए जाने का आरोप है। अनियमित्ता एवं लापरवाही के लिए इस प्रकरण में दोषी भी माना गया है। ईओ पर यह भी आरोप है कि जांच समिति को अभिलेख भी मुहैया नहीं कराए गए। इसके अलावा मिट्टी भराव, निर्माण कार्य संबंधित टेंडर के खिलाफ कराए जाने के आरोप हैं। नगरीय निकाय निदेशालय के अपर निदेशक जांच अधिकारी ने अपनी जांच आख्या शासन को भी उपलब्ध करा दी है। जांच आख्या पूरी होने पर शासन ने ईओ जलाली से विभागीय एवं अनुशासनात्मक कार्रवाई की संस्तुति भी की है। इस प्रकरण में ईओ जलाली से स्पष्टीकरण मांगा गया है। एडीएम सिटी राकेश कुमार पटेल ने बताया कि शासन से आरोप पत्र आया था जिसको ईओ को रिसीव कराकर सूचना शासन को प्रेषित कर दी गई है। पुराने मामले में जांच हुई है।

एक टिप्पणी भेजें

और नया पुराने