अलीगढ़ : शराबी पति से तंग आकर मासूम को गोद में लेकर मां ने खुद को लगाई आग, दोनो की मौत

शराबी पति से तंग आकर मासूम बेटी को गोद में लेकर मां ने खुद लगाई आग, 11 माह की बेटी की हॉस्पिटल ले जाते वक्त दर्दनाक मौत, महिला ने भी इलाज के दौरान जवाहरलाल नेहरू मेडिकल कॉलेज में तोड़ा दम, बेटे ने घर के अंदर बेड के नीचे छुपकर बचाई जान,, पति घर का ताला लगाकर मौके से फरार,, पुलिस मौके पर जांच में जुटी।

ब्यूरो डेस्क, अलीगढ़

पाली मुकीमपुर थाना इलाके के बिजौली गांव की घटना प्राप्त जानकारी के अनुसार पाली मुकीमपुर थाना क्षेत्र के गांव बिजौली के रहने वाले ओमवीर सिंह की शादी हाथरस जनपद के अहियापुर निवासी पिंकी के साथ 8 वर्ष पूर्व हिंदू रीति रिवाज के साथ हुई थी, शादी के बाद से घर में सब कुछ सही चल रहा था, रोडवेज में संविदा पर तैनात पति ओमबीर शराब पीने का आदी हो गया, जिसका पिंकी आए दिन विरोध किया करती थी, देर रात ओमवीर शराब के नशे में जैसे ही घर पहुंचा तो पिंकी को नागवार गुजरा, पिंकी ने शराब का विरोध भी किया, इस दौरान ओमबीर ने पिंकी को अपशब्दों का प्रयोग भी किया, नाराज पिंकी अपनी 11 माह की बेटी और बेटे को लेकर कमरे में चली गई, कुछ ही देर बाद कमरे से आग की लपटें दिखाई देखने लगी, पड़ोसियों ने घर के अंदर जाकर देखा तो पिंकी जल रही थी और गोदी में 11 माह की बेटी थी, इस दौरान पिंकी का बेटा बेड के नीचे छुपा हुआ था, आनन-फानन में ग्रामीणों ने आग बुझाने के बाद मां बेटी को हॉस्पिटल के लिए भेजा, जहां रास्ते में 11 माह की बेटी ने दम तोड़ दिया है,, मां ने भी इलाज के दौरान जवाहरलाल नेहरू मेडिकल कॉलेज में दम तोड़ दिया है, मृतक महिला के मायके पक्ष के लोगों का रो- रो कर बरा हाल है घटना के बाद पति घर का ताला लगा कर मौके से फरार हो गया है, मौके पर पहुंची पुलिस घटना की जांच पड़ताल में जुटी हुई है, अभी तक पूरे घटनाक्रम पर पुलिस को कोई भी लिखित शिकायत नहीं दी गई है, एसपी देहात पलाश बंसल ने जानकारी देते हुए बताया है कि मां बेटी की मेडिकल कॉलेज में इलाज के दौरान मौत हो गई है, दोनों के शवों को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम हाउस के लिए भेज दिया है, अभी तक पुलिस को कोई भी लिखित शिकायत नहीं मिली है, शिकायत मिलने के बाद पुलिस जांच के बाद कार्यवाही करेगी।

एक टिप्पणी भेजें

और नया पुराने