हरदुआगंज : उपमंडी में युवाओं के दो गुट भिड़े, जमकर चले लाठी- डंडे

रिपो. अभिषेक चौधरी

मंगलवार देर रात युवाओं के दो गुट भिड़ गए। इस बीच जमकर लाठी- डंडे, सरिया और लात घूंसे चले। एक पक्ष के युवक ने डायल 100 नंबर पर अपहरण की सूचना दे दी। पुलिस ने मामले में आठ युवकों को शांतिभंग में पाबंद करते हुए दो-दो लाख के मुचलके से पाबंद किया है। 

हरदुआगंज : मामला हरदुआगंज कस्बा में स्थित अनाज उपमंडी परिसर का है जहां मंगलवार देर रात युवाओं के दो गुट भिड़ गए। इस बीच जमकर लाठी- डंडे, सरिया और लात घूंसे चले। इस संबंध में हरदुआगंज थाना प्रभारी राजेश कुमार ने बताया कि मंगलवार रात करीब डेढ़ बजे अनाज मंडी परिसर में मारपीट और अपहरण की सूचना मिली थी। मौके पर जाकर देखा तो अपहरण की सूचना झूठी निकली। शराब के नशे में दो गुटों मारपीट हुई थी। मौके से अजय कुमार निवासी मोहल्ला गुडियाई, सुमित कुमार निवासी दाऊदपुर, अजय प्रताप निवासी नगला ठेकेदार, अमित कुमार निवासी भीमगढी, सचिन कुमर निवासी हरनोट सिकंदराराऊ हाथरस, कुश कुमार  निवासी गुडियाई हरदुआगंज, मोहित कुमार उर्फ रावण निवासी मोहल्ला महाब्रहम्मण, करन निवासी शेखूपुर को गिरफ्तार कर शांतिभंग की कार्रवाई की है। सभी को दो दो लाख रुपये के मुचलके से पाबंद कर धारा 151 में चालान कर जेल भेज दिया गया है।
रात में मंडी में इकट्ठा होते हैं शराबी-जुआरी  
गेट बंद अनाज मंडी में चौकीदार होने के बावजूद रात डेढ़ दर्जन से अधिक लोगों के बीच जमकर मारपीट हुई। इससे सबसे बड़ा सवाल मंडी की सुरक्षा व्यवस्था पर उठ रहा है। कुछ आढ़तियों का कहना है कि मंडी इन दिनों असामाजिक तत्वों का अड्डा बनी हुई है। बीते दिनों सभासद मुन्ना खां की आढ़त पर बंधे दस बकरों का पेट फाड़कर मार डाला था। अब रात के समय बाहरी युवक भिड़ गए। यहां के व्यापारी दुकानों को लेकर खासे परेशान हैं। धनीपुर मंडी सचिव वीरंद्र सिंह चंदेल का कहना है कि मंडी में गार्ड तैनात रहता है। फिर भी बाहर के लोगों को रात में कैसे प्रवेश मिला। इसकी जांच कराकर कार्रवाई की जाएगी।

एक टिप्पणी भेजें

और नया पुराने