बुलंदशहर। दबंगों ने गांव में स्थित पोखर पर किया अवैध निर्माण, जिलाधिकारी के आदेश के बाद भी नहीं हुआ कब्जा मुक्त

 

रिपो० सुभाष सिंह

ग्रामीणों ने जिलाधिकारी से पोखर को कब्जा मुक्त कराने की मांग।

बुलंदशहर/शिकारपुर। सलेमपुर थाना क्षेत्र के गांव निभैडा माजरा मांगलौर तहसील बुलंदशहर में स्थित गाटा संख्या 31 में बनी पोखर आरक्षित थी लेकिन पोखर के अधिकतर भाग पर गांव के दबंग व हैकड और मुठ गर्द लोगों ने अवैध कब्जा कर रखा है जिसकी शिकायत डीएम को लिखित में दी गई जिसका निराकरण 3 अगस्त तक लेखपाल केहर सिंह के द्वारा होना था। 

परंतु गांव वालों की माने तो उन्होंने ग्रामीणों ने लेखपाल पर आरोप लगाया है कि अवैध कब्जा करने वाले दबंग व्यक्तियों से पैसों की सांठगांठ करते हुए सही तरीके से पोखर की जांच नहीं की गांव में जलभराव के लिए लगभग 12 बीघा में बनी इकलौती पोखर थी जिसमें पूरे गांव का पानी एकत्रित होता था परंतु पोखर  पर अवैध कब्जा होने के उपरांत गांव का पानी पोखर में नहीं पहुंच पाता है जिसमें मच्छर व अन्य कीड़े मकोड़े पनप रहे हैं ग्रामीणों ने बताया है कि गांव में  अधिकतर लोग बीमारी की हालत में अन्य अस्पतालों में अपना उपचार करा रहे हैं जबकि गांव के पानी को इकट्ठा होने का अन्य कोई विकल्प ही नहीं है जिस कारण गांव का गंदा पानी इधर-उधर गलियों में ही भरा रहता है जिससे संक्रमण रोग फैलने का अंदेशा बन रहा है। 

ग्रामीणों द्वारा बताया गया कि पूर्व समय में भी संबंधित अधिकारियों को प्रार्थना पत्र दिए जा चुके हैं तहसील से हल्का लेखपाल व कानूनगो व अन्य कर्मचारी मौके पर गए लेकिन सही सीमांकन न करा कर खानापूर्ति कर दी जाती है लेकिन तालाब से कोई अवैध कब्जा नहीं हटवाया गया है और समस्या जस की बस बनी रहती है और दबंग लोग अवैध कब्जा छोड़ने को तैयार नहीं है ऐसी स्थिति में पुलिस बल की मौजूदगी में पोखर की पैमाइश कराकर कब्जा मुक्त कराया जाना आवश्यक है। 

समस्त ग्रामवासी डीएम से बस यही दरकाश कर रहे हैं कि हमारे गांव में जलभराव की व्यवस्था को देखते हुए पोखर से अवैध निर्माण व कब्जा मुक्त कराया जाए अगर समय के रहते पोखर कब्जा मुक्त नहीं हुई तो ग्राम वासियों ने बताया है कि जिलाधिकारी कार्यालय पर धरना प्रदर्शन करेंगे यह जानकारी ग्राम प्रधान लाखन सिंह, महेंद्र सिंह,अरविंद, राजकुमार, राजीव, संदीप चौधरी, सुनील कुमार, विनीत कुमार, मुनेंद्र सिंह, गजेंद्र सिंह देसवाल, भूपेंद्र सिंह, देवेंद्र सिंह, राहुल कुमार, वचन वीर सिंह, पंकज देशवाल, रामवीर सिंह आदि ने दी है।

एक टिप्पणी भेजें

और नया पुराने