अलीगढ़। भीख मंगवाने के लिए बच्चों का किया था अपहरण, आरोपित गिरफ्तार

क्वार्सी क्षेत्र के ज्वालापुरी इलाके से आठ दिन पहले अपह्रत हुए दो बच्चों को पुलिस ने शुक्रवार को सकुशल बरामद करते हुए आरोपित को गिरफ्तार कर लिया। आरोपित बच्चों के पिता के साथ मजदूरी करता है। बच्चों से भीख मंगवाने के लिए उसने अपहरण किया और उन्हें देहरादून तक ले गया था। एसएसपी कलानिधि नैथानी ने गिरफ्तार करने वाली टीम को 25 हजार रुपये के इनाम की घोषणा की है।

ब्यूरो चीफ, अलीगढ़


एसएसपी ने दी अहम जानकारी

फिरोजाबाद के थाना शिकोहाबाद क्षेत्र के मोहल्ला पड़ाव निवासी रफीक यहां रेलवे स्टेशन व बस अड्डे के आसपास फुटपाथ पर रहकर गुजारा करता है। चार साल से उसका पत्नी से विवाद चल रहा है। ऐसे में एक महीने पहले वह अपने सात वर्षीय बेटी छोटी उर्फ आयशा व चार वर्षीय बेटे आयल उर्फ चांद बाबू को साथ ले आया था। 

22 सितंबर को रफीक ज्वालापुरी में दीवार के निर्माण को लेकर एक साथी के साथ गया था। दोनों बच्चे भी साथ थे। वहां बच्चों को भूख लगने पर रफीक कचौड़ी लेने के लिए चला गया। जब लौटा तो दोनों बच्चे गायब थे। साथी युवक भी नहीं था।

सीसीटीवी में बच्चे उसी युवक के साथ जाते दिखे थे। आपरेशन खुशी के तहत एसएसपी ने पांच टीमें लगाईं। शुक्रवार को पुलिस ने बुलंदशहर के थाना रामघाट क्षेत्र के कोठी नगला निवासी भूदेव उर्फ लंगड़ा को बौनेर तिराहे से गिरफ्तार कर लिया। दोनों बच्चों को स्वजन के हवाले कर दिया है। आरोपित ने बताया कि बच्चों से भीख मांगने के काम कराने

आपरेशन खुशी के तहत हुई कार्रवाई

आपरेशन खुशी के तहत थाना क्वार्सी व क्रिमिनल इंटेलीजेंस विंग की टीम ने बुलंदशहर के थाना रामघाट के कोठी नगला निवासी भूदेव उर्फ लंगड़ा को गिरफ्तार किया है। इसके लिए पुलिस ने एटा, बुलंदशहर समेत 10 से अधिक जिलों में दबिश दी। बौनेर तिराहे से दोनों बच्चे भी मिल गए हैं। के लिए ले गया था।


एक टिप्पणी भेजें

और नया पुराने