अलीगढ़ | टाटा मैजिक की टक्कर से मां-बेटा और मामा की मौत

 

मृतक शैलेंद्र सिंह का फाइल फोटो


निखिल शर्मा

अलीगढ़ में टाटा मैजिक ने बाइक में टक्कर मार दी। हादसे में मां-बेटा और मामा गंभीर रूप से घायल हो गए। तीनों को दीनदयाल हॉस्पिटल में ले जाया गया। यहां चिकित्सकों ने तीनों को मृत घोषित कर दिया। हादसा जिले के अतरौली इलाके में बुधवार की शाम 5 बजे हुआ।

युवक अपनी मां के साथ मेडिकल कालेज में बीमार मौसा को देखने गया था। वहां उसके मामा भी मिल गए। इसके बाद तीनों एक ही बाइक से गांव लौट रहे थे। इस दौरान हादसा हो गया।

मेडिकल कालेज से लौट रहे थे तीनों

गांव पिलखुनी निवासी शैलेंद्र सिंह (28) पुत्र करन सिंह के मौसा तालसपुर कलां में रहते हैं। इस समय उनकी तबीयत खराब चल रही है। वह जेएन मेडिकल कॉलेज में भर्ती हैं। बुधवार की दोपहर शैलेंद्र अपनी मां कलावती देवी को लेकर बाइक से मौसा को देखने गया था। मेडिकल कालेज में इगलास के मलिक के रहने वाले उसके मामा लाजपत उर्फ लज्जो (45) पुत्र चोब सिंह भी आए थे।

नरौना 12 नंबर के पास हादसा

शाम करीब 5 बजे के लगभग शैलेंद्र अपनी मां कलावती और मामा लज्जो को बाइक पर ‌बैठाकर पिलखुनी लौट रहा था। नरौना 12 नंबर के निकट टाटा मैजिक ने बाइक में जोरदार टक्कर मार दी। हादसे में तीनों गंभीर रूप से घायल हो गए। मौके पर लोगों की भीड़ जुट गई। लोगों ने हादसे की सूचना पुलिस को दी। नरौना चौकी प्रभारी अरूण बैंसला तत्काल पुलिस फोर्स के साथ मौके पर पहुंच गए। उन्होंने घायलों को एंबुलेंस से दीनदयाल उपाध्याय संयुक्त अस्पताल भिजवा दिया। यहां तीनों को चिकित्सकों ने मृत घोषित कर दिया।

कोतवाली पुलिस ने तीनों लोगों के शवों का पंचनामा भरकर शव पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। हादसे की जानकारी पर एटा सांसद राजवीर सिंह के पुत्र सौरभ सिंह, साहब सिंह राजपूत, जिला पंचायत सदस्य केपी सिंह मिस्त्री ने परिजनों को सांत्वना दी।

कोतवाली प्रभारी अरविन्द राठी ने बताया कि एक्सीडेंट की सूचना पर कोतवाली पुलिस ने घायलों को दीनदयाल हॉस्पिटल भिजवाया था। डॉक्टरों के द्वारा उन्हें मृत घोषित किया गया है। चालक गाड़ी लेकर फरार हो गया है। परिजनों की तहरीर मिलने पर कार्रवाई की जाएगी।


एक टिप्पणी भेजें

और नया पुराने