यूपी | जांच करने गए दरोगा को बंधक बनाकर पीटा, पुलिस ने पहुंचकर छुड़ाया



SDLive News

कानपुर में दरोगा को बंधन बनाकर पीटने का मामला सामने आया है। दरोगा लड़की को भगाकर शादी करने के केस की जांच करने पहुंचे था। लड़की के परिवार वालों ने छेड़छाड़ का आरोप लगाते हुए उसे कमरे में बंद कर लिया। इसके बाद उसे जमकर पीटा। गांव के लोगों ने इस बात की पुलिस को सूचना दी। मामले का वीडियो भी सामने आया है। पुलिस कमिश्नर ने 2 IPS अफसरों को पूरे मामले की जांच के लिए भेजा है। मामला ककवन इलाके का है।

लड़की की लव मैरिज के बाद आरोपियों पर एक्शन नहीं से नाराज था परिवार

पुलिस कमिश्नर बीपी जोगदंड ने बताया, "हीरापुरवा में रहने वाली एक युवती ने घर से भागकर लव मैरिज की थी। मामले में परिवार वालों ने 2 लोगों के खिलाफ नामजद FIR दर्ज कराई थी। पुलिस ने 3 आरोपियों और युवती को दबिश देकर पकड़ लिया। जांच के दौरान युवती ने अपने बयान में बताया कि मैं बालिग हूं और उसने अपनी इच्छा से शादी की है।

FR लगाने पहुंचा था दरोगा

युवती के बालिग होने की मेडिकल में पुष्टि होने के बाद आरोपियों को छोड़ दिया गया। साथ ही परिवार वालों को पूरे मामले की जानकारी दी गई। इस बात को लेकर परिवार के लोगों में गुस्सा भरा था। परिवार को लग रहा था कि घूस लेकर पुलिस आरोपियों की मदद कर रही थी। परिवार वाले कानून से इतर कार्रवाई की मांग कर रहे थे। मामले में FR लगाने के लिए रविवार को दरोगा गर्वित त्यागी और कॉन्स्टेबल माथुर चौधरी पीड़ित परिवार के घर गए थे।

आक्रोशित परिजनों ने पुलिस पर हमला कर दिया। उसके साथ मारपीट की। साथ ही परिवार की एक महिला ने दरोगा को कमरे में खींच लिया। इसके बाद छेड़खानी के आरोप लगाए। चीख-पुकार सुनकर गांव के लोग दौड़े आए। मामले की थाने में जानकारी दी।

कॉन्स्टेबल ने बनाया वीडियो

सूचना पर पहुंची पुलिस ने कमरे में बंद दरोगा को बाहर निकाला। इस दौरान कमरे के बाहर खड़े कॉन्स्टेबल ने पूरे मामले की वीडियो बना ली। वीडियो के आधार पर युवती के लगाए आरोप सही नहीं पाए गए। शुरुआती जांच में अफसर खुद ही मान रहे हैं कि दरोगा को झूठे आरोप में फंसाने के लिए महिला ने कमरे में बंद किया और फिर शोर मचाया।

'कपड़ा फाड़ो, दबोच लो इसको'

घटना के वीडियो में सुनाई पड़ रहा है कि महिला को कुछ लोग उकसा रहे हैं कि कपड़ा फाड़ो, उसे दबोच लो। इससे साफ हो गया कि दरोगा को फंसाने के लिए पूरी साजिश रची गई थी।

2 IPS अफसर जांच में जुटे

कानपुर पुलिस कमिश्नर बीपी जोगदंड ने कहा कि मामले की जांच करने के लिए ADCP साउथ अंकिता शर्मा और ADCP वेस्ट लाखन यादव को भेजा गया है। महिला से जुड़ा मामला होने के चलते महिला IPS अफसर को जांच टीम में रखा गया है। जांच पूरी होने के बाद मामले में कार्रवाई की जाएगी।

एक टिप्पणी भेजें

और नया पुराने