यूपी | पड़ोसी ने छेड़खानी की, पुलिस ने हमें ही पूरे दिन बैठाकर रखा, पति ने खाया थाने के सामने जहर, मौत के बाद दर्ज हुआ मुकदमा

SDLive News

संभल में बेटी से छेड़छाड़ की शिकायत दर्ज न होने पर पिता ने मंगलवार रात थाने के बाहर जहर खाकर जान दे दी। आरोप है कि मामला दर्ज कराने गए एक पक्ष को पुलिस ने थाने में बैठा लिया था। इससे लड़की का पिता आहत था। पिता की मौत के बाद पुलिस ने दो आरोपियों को हिरासत में लिया है। मामला संभल के कुढ़ फत्तेहगढ़ थाना क्षेत्र का है।

खुदकुशी करने वाले व्यक्ति की पत्नी ने बताया, सोमवार सुबह हमारा पड़ोसी से विवाद हुआ था। इसी दौरान पड़ोसी का बेटा अतर सिंह ने मेरी 17 साल की बेटी के साथ छेड़छाड़ की। उसने जान से मारने की धमकी दी। हम लोगों ने सोमवार सुबह कुढ़ फत्तेहगढ़ थाने में जाकर तहरीर दी। जब दूसरे पक्ष को इसकी जानकारी हुई तो उन्होंने भी मंगलवार सुबह मारपीट की तहरीर दी।

पत्नी बोली- आरोपियों की तहरीर पर दर्ज कर ली FIR

महिला ने बताया, मंगलवार को मैं, मेरा बेटा और पति थाने गए। हम लोगों ने पुलिस से कार्रवाई की मांग की। लेकिन हम लोगों को ही थाने में बैठाकर रखा। उसी समय आरोपी पक्ष ने तहरीर दे दी तो मेरे परिवार के 2 लोगों के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कर ली गई।

पुलिस द्वारा कार्रवाई न करने के कारण मेरे पति ने थाने के सामने नल पर 5:30 - 6:00 के करीब जहर खा लिया। आनन-फानन में पुलिस ने उन्हें सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में भर्ती कराया। जहां से जिला संयुक्त चिकित्सालय संभल लाया गया। वहां डॉक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया। अगर पुलिस ने कार्रवाई की होती तो मेरे पति ऐसा कदम नहीं उठाते।"

मौत के बाद आरोपियों पर दर्ज किया केस

महिला का आरोप है, पुलिस ने पति की मौत के बाद आनन-फानन में आरोपियों पर भी केस दर्ज किया। घटना की जानकारी मिलने के बाद एएसपी श्रीश्चंद्र और सीओ दीपक तिवारी पुलिस बल के साथ मौके पर पहुंचे।

पुलिस और पीड़ित पक्ष की अलग-अलग कहानी

महिला ने बताया, जब उन लोगों को पुलिस ने थाने में बैठाकर रखा था। उस दिन दोपहर को उनका बेटा घर भाग गया था। उसके कुछ देर बाद कुछ पुलिसकर्मी घर गए और बेटे को फिर पकड़ लाए। इस मामले में पीड़ित पक्ष और पुलिस दो अलग-अलग कहानी बयां कर रहे हैं। पुलिस का कहना है कि दोनों पक्ष मारपीट की शिकायत लेकर थाने पहुंचे थे। जब एक पक्ष घर पहुंचा तो उसे पता चला कि बेटी के साथ छेड़छाड़ हुई है।

जबकि पीड़ित पक्ष का कहना है कि मारपीट के दौरान ही उनकी बेटी के साथ छेड़छाड़ की गई थी। वह छेड़छाड़ की ही शिकायत लेकर थाने पहुंचे थे। वहीं मामला दर्ज करने को लेकर भी दो अलग-अलग बातें कही जा रही हैं। पुलिस का कहना है कि तहरीर मिलने के बाद मामला दर्ज कर लिया गया था। जबकि पीड़ित पक्ष ने बताया कि मौत के बाद मामला दर्ज किया गया।

ASP बोले- दोनों पक्षों को थाने बुलाया था

एएसपी श्रीश्चंद्र ने बताया, थाना कुल फत्तेहगढ़ क्षेत्र के गांव में दो परिवारों के बीच कहासुनी हुई थी। दोनों पक्ष थाने पहुंचे थे। तहरीर के आधार पर केस दर्ज कर लिया गया था। एक पक्ष जब घर पहुंचा तो पता चला कि दूसरे पक्ष के अतर सिंह व जगत पाल ने उनकी बेटी के साथ छेड़छाड़ कर जान से मारने की धमकी दी है। इसके बाद पीड़िता के पिता ने जहरीला पदार्थ खा लिया। उसे अस्पताल ले जाया गया लेकिन तबतक उसकी मौत हो चुकी थी।

दो आरोपी गिरफ्तार

एएसपी के मुताबिक, मृतक के बेटे की तहरीर के आधार पर मामला दर्ज कर लिया गया है। छेड़छाड़ के दो अभियुक्तों को गिरफ्तार कर लिया गया है। दोनों से सख्ती से पूछताछ की जा रही है। पीड़ित परिवार को न्याय दिलाया जाएगा।

एक टिप्पणी भेजें

और नया पुराने