अलीगढ़ | अग्निवीर बनवाने के नाम पर ठगे 2.30 लाख, घरों में बर्तन धोती है महिला, बेटे की नौकरी के लिए देती रही रुपए

 


निखिल शर्मा

अलीगढ़ में मजूदर परिवार से लाखों की ठगी का मामला सामने आया है। आरोपी पीड़ित महिला से उसके बेटे की नौकरी लगवाने के नाम पर रुपए ठगते रहे और वह अपने जेवर गिरवी रखकर और लोगों से उधार लेकर उन्हें रुपए देती रही।

लेकिन एक साल तक जब कुछ नहीं हुआ तो पीड़ित ने आरोपियों से बेटे की नौकरी के लिए पूछना शुरू किया। आरोप है कि इसके बाद उन्होंने फोन उठाने बंद कर दिए और धमकाना शुरू कर दिया। जिसके बाद पीड़ित ने बन्नादेवी थाने में आरोपियों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया है।

बेटी की सहेली का बहनोई है आरोपी

बन्नादेवी थाना क्षेत्र के कांसीराम आवास में रहने वाली गायत्री देवी ने बताया कि वह घरों में काम करती हैं, जिससे उनके परिवार का खर्चा चलता है। पिछले साल उनकी बेटी की सहेली ललिता (23) उनके पास आई और बताया कि उसके जीजा अजय भारतीय सेना में अधिकारी हैं।

अगर वह रुपए खर्च करेगी तो उनके बेटे शानू की अग्निवीर में नौकरी लग जाएगी। जिसके बाद महिला ने अपने बेटे की नौकरी के लिए 50 हजार रुपए दे दिए। इसके बाद आरोपी उससे लगातार रुपए की ठगी करते रहे और उसके बेटे को दिल्ली भी बुलाते रहे। जब भी वह उसे दिल्ली बुलाते रुपए लेते। लेकिन एक साल तक नौकरी नहीं लगी।

पीड़ित की तहरीर पर मुकदमा दर्ज

आरोपियों ने जब पीड़िता को धमकाना शुरू किया तो उसे पता चल गया कि उसके साथ ठगी हुई है। जिसके बाद पीड़िता ने बन्नादेवी के बरौला निवासी ललिता उर्फ लव्या, सुभाष, दिल्ली निवासी अजय चौहान और उसकी पत्नी चंचल के खिलाफ नामजद मुकदमा दर्ज कराया है।

सीओ सेकंड एएसपी पुनीत द्विवेदी ने बताया कि पीड़िता की तहरीर पर मुकदमा दर्ज कर लिया गया है। मामले की जांच की जा रही है और जांच के आधार पर आरोपियों के खिलाफ सख्त कानूनी कार्रवाई की जाएगी।

एक टिप्पणी भेजें

और नया पुराने