12वीं में नंबर कम आने पर छात्रा ने किया सुसाइड, मरने से पहले मां से कहा था- 2 साल बर्बाद हो गए

SDLive News

कानपुर में 12वीं में नंबर कम आने पर छात्रा ने सुसाइड कर लिया। छात्रा को 73% नंबर मिले थे। इससे वह काफी निराश थी। घर वालों ने समझाया तो उसने मां से कहा- अब मुझे IIT में एडमिशन नहीं मिल पाएगा। इसके बाद छात्रा अपने कमरे में चली गई।

काफी देर तक जब वह कमरे से बाहर नहीं निकली तो छोटी बहन उसे बुलाने गई। कमरे में छात्रा का शव फांसी से लटकता मिला। परिजन अस्पताल ले गए। डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। मामला बर्रा-2 का है।

केडीए में बाबू हैं पिता

बर्रा-2 के रहने वाले नीरज दीक्षित केडीए में बाबू हैं। उनकी बेटी माही दीक्षित (17) मदर टेरेसा स्कूल में 12वीं की छात्रा थी। शुक्रवार को सीबीएसई बोर्ड का रिजल्ट आया तो उसे 73 फीसदी नंबर मिले। इस बात को लेकर वह बेहद उदास थी। वह लगातार रोये जा रही थी।

पिता नीरज के मुताबिक, बेटी बार-बार यही कह रही थी कि 2 साल से वह आईआईटी फाउंडेशन बैच की तैयारी कर रही थी, लेकिन अब उसे एडमिशन नहीं मिल सकेगा। माही की मां शिवानी रोते हुए बार-बार यही कह रहीं थी कि मेरे दो साल बर्बाद हो गए। अब मैं क्या करूंगी।

कमरे में जाकर लगाई फांसी

मां के काफी देर तक समझाने के बाद वह उदास बैठी रही। फिर कुछ देर अकेले में रहने की बात कहकर ऊपर कमरे में चली गई। काफी देर तक बाहर न आने पर छोटी बहन नीति ने जाकर देखा तो माही का शव फंदे से लटक रहा था। नीति ने परिजनों को घटना की जानकारी दी। इसके बाद घर में कोहराम मच गया।

परिजन छात्रा को अस्पताल ले गए, जहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। सूचना पर बर्रा थाने का फोर्स मौके पर पहुंच गया। छात्रा के पिता ने शव का पोस्टमार्टम कराने से इनकार किया।

एक टिप्पणी भेजें

और नया पुराने