अलीगढ़ में दो सगी बहनों से कथित 'लव जिहाद', धर्म परिवर्तन कराकर निकाह करना चाहता था आरोपी

SDLive News
अलीगढ़ में दो बहनों के साथ कथित 'लव जिहाद' का मामला सामने आया है. समुदाय विशेष का युवक नाबालिग लड़की को लेकर फरार हुआ था.
आरोपी नाबालिग लड़की को बहला-फुसलाकर भगा ले जाने के बाद धर्म परिवर्तन का दबाव बना रहा था. लड़की की मां की शिकायत के बाद पुलिस ने लड़की को बरामद किया. आरोपी नाबालिग लड़की की बड़ी बहन को भी 6 साल अपने साथ रखे हुए था. फिलहाल आरोपी फरार है. वहीं पुलिस ने लड़की का 164 का बयान दर्ज कराया है. बयान में लड़की ने बताई आप बीती बताई है. मामला कोतवाली थाना इलाके का है.

दरअसल कोतवाली क्षेत्र में रहने वाली एक शादीशुदा युवती करीब 6 साल पहले एक कारखाने में काम करती थी. वहां उसकी नजदीकी जावेद नाम के युवक से हो गई. जावेद उसको बहला-फुसलाकर अपने साथ ले गया. उसके दो बच्चे थे और जावेद ने उसका पति से तलाक करा दिया. वह तभी से जावेद के साथ ही रह रही है. उसके बाद जावेद ने अपनी साली जो नाबालिग है, उस पर भी बहला-फुसलाकर डोरे डालना शुरू कर दिया और उसको भी अपने साथ ले गया. पीड़ित नाबालिग लड़की की मां ने थाने में जावेद के खिलाफ मुकदमा दर्ज करा दिया. इसके बाद पुलिस ने नाबालिग लड़की को बरामद कर लिया है और मामले में आरोपी की तलाश कर रही है.
'वह मेरी बहन के साथ निकाह करना चाहता था'

पीड़ित लड़की ने जानकारी देते हुए बताया, "मेरी बहन कारखाने में काम करती थी और वह लड़का भी काम करता था. वह मेरी बहन के साथ निकाह करना चाहता था. धर्म परिवर्तन कराना चाहता था. मेरी बहन ने मना कर दिया तो उसके 10 महीने के बच्चे को छोड़कर मेरे पीछे पड़ गया. मेरे से निकाह करना चाह रहा था, धर्म परिवर्तन कराना चाह रहा था और विरोध करने पर मेरे साथ जबरदस्ती कर रहा था. साथ ही मारपीट कर रहा था, मैंने उसे मना कर दिया और मैं अपनी मम्मी के साथ रहूंगी."

लड़की की मां ने जानकारी देते हुए बताया, "पहले तो उसने मेरी बड़ी बेटी को 6 साल अपने साथ रखा. बेटी के बच्चे हैं. अब वह मेरी छोटी बेटी को ले गया, 10 दिन में आई है. बेटी से कह रहा था हम तुम्हें मुसलमान बना कर रखेंगे. हम ने मना कर दिया, हम हिंदू हैं, हिंदू से शादी करेंगे, कह रहे थे हम निकाह करेंगे, बड़ी लड़की से भी कह दिया, छोटी लड़की से भी कह रहे थे. बड़ी लड़की के साथ 6 साल से रह रहा है, एक लड़की पैदा हो गई है. आरोपी का नाम जावेद है और काम कट्टी घर में करता है. मेरी बेटी कारखाने में काम करती थी, वह कारखाने में आता-जाता था, उसका भी कारखाना है. आरोपी भुजपुरा का रहने वाला है." पीड़ित लड़की की मां की शिकायत पर पुलिस ने गुमशुदगी दर्ज करने के बाद उसे बरामद किया है.

धर्म परिवर्तन कराने के लिए मजबूर किया गया- बीजेपी नेता

वहीं बीजेपी के नेता विनय वार्ष्णेय ने जानकारी देते हुए बताया कि यह पूरा मामला लव जिहाद का है. एक कारखाने में काम करने वाली गरीब लड़की को बहला-फुसलाकर पति से तलाक करने के बाद अपने साथ ले गया. इस दौरान लड़की के दोनों बच्चों को अपनाने की भी बात कही, उसके बाद उसे धर्म परिवर्तन कराने के लिए मजबूर किया गया. इस दौरान एक बच्चा भी पैदा हो गया. धर्म परिवर्तन के लिए उनकी बातों में नहीं आई तो उसे घर छोड़ दिया गया.
विनय वार्ष्णेय ने कहा कि युवती को छोड़ जाने के बाद उससे जो छोटे वाली बहन है, जिसकी उम्र मात्र 14 से 15 साल है, उसे अपने साथ ले गया. नाबालिग बच्ची से भी इस्लाम धर्म कबूल करने के लिए पीछे पड़ा, उसके साथ मारपीट की गई. उसने इस्लाम धर्म कबूल नहीं किया तो उसे छोड़ दिया गया. पूरा परिवार परेशान है, उसकी मां बीमार रही है, हॉस्पिटल में एडमिट रही है, बीजेपी के लोगों ने मदद की, उसके बाद बच्ची सकुशल अपने घर वापस आ गई है.

पुलिस ने मामले को लेकर क्या कहा?

इस मामले पर पुलिस क्षेत्राधिकारी नगर अभय पांडे ने बताया कि थाना कोतवाली नगर के बाबरी मंडी की रहने वाली पीड़िता जो किसी व्यक्ति के साथ गई थी और उस संबंध में एक मुकदमा अपराध संख्या 146/23 कोतवाली में पंजीकृत हुआ. उस अभियोग में यह दिखाया गया था कि जिस व्यक्ति के साथ गई थी वह लड़की का जीजा है. इस संबंध में हम लोगों की ओर से प्रयास करके पीड़िता को बरामद कर लिया है. आरोपी की तलाश की जा रही है. उसकी गिरफ्तारी सुनिश्चित की जाएगी. पीड़िता की ओर से बयान में किसी तरह के धर्म परिवर्तन की बात नहीं की गई है, फिर भी पूरे मामले की जांच कर कार्रवाई की जाएगी.

एक टिप्पणी भेजें

और नया पुराने