मां ने गुटखा खाने से रोका, बहस करने पर मार दिया थप्पड़ तो नदी में कूदकर बेटी ने दी जान

ब्यूरो अभिषेक चौधरी

आज के बच्चे न तो घरवालों की बात को समझते हैं और न ही सहन करते। उन्हें अपने घर वालों की नसीहत ही बुरी लग रही है। ऐसा ही एक मामला सदर बाजार थाना क्षेत्र का सामने आया है। एक किशोरी को तंबाकू (गुटखा) खाने पर मां ने पहले डांटा था। इसके बाद भी वह नहीं मानी तो मां ने उसे सुधारने के लिए गाल पर तमाचा मार दिया। इस पर किशोरी घर से चली गई और यमुना में कूदकर जान दे दी।

तंबाकू खाने के लिए मां ने लगा दी थी डांट

सदर बाजार थाना क्षेत्र अंतर्गत माली मुहल्ला में पप्पू कुशवाह परिवार सहित रहते हैं। पेशे से वह मजदूर हैं। 17 जून को बेटी सोनियां तंबाकू खाकर घर पर पहुंची तो मां शांति डांटने लगीं। मां की नसीहत को समझने के बजाय सोनियां ने उल्टे मां को ही जवाब दे दिया। इस पर नाराज मां ने बेटी के गाल पर तमाचा मार दिया। स्वजन के अनुसार, इससे क्षुब्ध होकर बेटी घर से चली गई। मां ने

समझा पड़ोस में गई होगी, लेकिन काफी देर तक न आने पर तलाश शुरू की गई। आसपास क्षेत्र में तलाश किया, मगर कहीं सुराग नहीं लगा।

पुलिस को मिलीं यमुना किनारे चप्पलें

स्वजन ने थाने में प्रार्थना पत्र दिया। पुलिस ने गुमशुदगी दर्ज कर उसकी तलाश शुरू कर दी। रविवार को यमुना किनारे महादेव घाट के समीप युवती की चप्पलें उतरीं मिलीं। यमुना में तलाशा, मगर निराशा हाथ लगी। सोमवार को पंचमुखी हनुमान मंदिर के समीप एक लड़की का शव उतराता दिखा तो आसपास क्षेत्र के लोग आ गए। पुलिस पहुंची और पप्पू एवं उनकी मां शांति भी पहुंच गईं। शव निकाला गया तो उसकी पहचान सोनिया के रूप में हुई।

प्रभारी निरीक्षक जसपाल सिंह ने बताया, मां द्वारा तंबाकू खाने से मना करने पर किशोरी ने नहर में कूदकर जान दी है। मौत का कारण पोस्टमार्टम रिपोर्ट से स्पष्ट होगा।

एक टिप्पणी भेजें

और नया पुराने