अलीगढ़: कीटनाशक वाली फसलें चरने से 80 बकरियों की मौत, पशु मालिकों में आक्रोश

SDLive News
अलीगढ़ में थाना अकराबाद के अदौन इलाके में 80 बकरियों की मौत हो गई. बताया जा रहा है कि बकरी मालिक ने बारिश के चलते बकरियों को चराकर एक कमरे के अंदर बंद कर दिया था. वही, सोमवार सुबह जब बकरियों का दूध निकालने पहुंचा तो बकरिया मर चुकी थी.
एक साथ 80 बकरियों की मौत से परिवार बेहद दुखी है. मौके पर थाना अकराबाद पुलिस और पशु चिकित्सा अधिकारी भी पहुंचे. पशु चिकित्सा अधिकारी बकरियों का पोस्टमार्टम कराकर मौत का सही कारण जानने की कोशिश में लगे हैं.
सही सलामत बंद किया था कमरे में
अदौन के रहने वाले साबिर लोन लेकर बकरी पालन का व्यवसाय करते हैं. कल बारिश के चलते बकरियों को कुछ देर बाहर चराने के बाद मौसम खराब होने पर घर के एक कमरे के अंदर बकरियों को बंद कर दिया था. रोजाना की तरह साबिर बकरियों को कमरे में बंद करते थे. वही, सोमवार को सुबह जब बकरियों का दूध काढ़ने गए तो बकरियां मरी हुई अवस्था में मिली. यह देखकर साबिर दंग रह गया.
वही, बकरियों की मौत को देखकर परिवार में मातम पसर गया. मालिक साबिर को भी कुछ समझ में नहीं आ रहा है कि बकरियों की मौत का क्या कारण है. लेकिन साबिर ने बताया कि बकरियों के कुछ खाने से ही मौत हुई है. वह इसकी सूचना पुलिस थाने और पशु चिकित्सा अधिकारी को दी गई.
मौके पर पुलिस और पशु चिकित्सा अधिकारी जांच में लगे हुए हैं. हालांकि, मालिक साबिर ने बताया कि शाम को ही बकरियों को प्लॉट में बने कमरे में बंद कर दिया था. वहीं जब सुबह देखने गए तो 80 बकरियां मरी हुई मिली .साबिर ने बताया कि रोज की तरह कमरे में बंद करते थे लेकिन सोमवार को जब सुबह बंद कमरे कमरे को खोला तो बकरियां मरी हुई मिली.
पशु चिकित्सक ने पेस्टिलाइट्स खाने की जताई आशंका
वहीं, बकरी मालिक साबिर ने बताया कि कमरे में 80 बकरियां बंद थी मर गई. साबिर ने आरोप लगाया कि किसी ने जहर दिया है जिसके चलते बकरियों की मौत हुई है. वही पशु चिकित्सक अमित पाल ने करीब 55 बकरियों का पोस्टमार्टम किया है. उन्होंने बताया कि जहर खाने से मौत हुई है. उन्होंने आशंका जताई कि फसल में या घास पर पेस्टिसाइट्स डाली गई होगी.
जिसे बकरियों द्वारा खाया गया और जिसके चलते मौत हुई है. वही मालिक साबिर डरा हुआ है, क्योंकि अकराबाद थाना पुलिस प्रभारी महामाया प्रसाद का कहना है कि दम घुटने के चलते बकरियों की मौत हुई है, हालांकि पशु चिकित्सक की रिपोर्ट के बाद मामले की सच्चाई सामने आएगी.

एक टिप्पणी भेजें

और नया पुराने