अलीगढ़ | विधायक मुक्ता राजा के नाम से लैटर वायरल , MLA ने किया इंकार


राजकुमारी शर्मा

अलीगढ़ के भाजपा सांसद सतीश गौतम ने मंच पर अपनी ही पार्टी की विधायिका को असहज करने के मामले में नया मोड़ आया है. घटना को लेकर भाजपा विधायक मुक्ता राजा का पत्र सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है.

इस वायरल पत्र की पुष्टि समाचार दर्पण लाइव नहीं करता है. पत्र में उन्होंने सांसद सतीश गौतम को पारिवारिक छोटे भाई जैसा रिश्ता बताया है और वह मुझसे बड़ी बहन जैसा व्यवहार करते हैं. पत्र में उन्होंने जिक्र किया है कि मैं हिंदू हृदय सम्राट शेर दिल स्वर्गीय संजीव राजा की पत्नी हूं. मेरे साथ अभद्रता करना तो दूर मुझे कोई गलत दृष्टि से देख भी नहीं सकता. हालांकि इस पत्र को लेकर स्वयं विधायक मुक्ता राजा ने कहा कि मैं मथुरा में हूं, मुझे पता नहीं है, किसने क्या किया है. मेरी संज्ञान में यह नहीं है. दरअसल , पंडित दीनदयाल जी की जयंती पर कार्यक्रम में अलीगढ़ सांसद सतीश गौतम ने शहर विधायक मुक्त राजा के हाथ को छूकर और कंधे पर हाथ रखकर बातें करते नजर आए थे. इसके बाद विधायिका को अपनी कुर्सी बदलनी पड़ी. वह दूसरी जगह जाकर बैठ गई. इस घटना का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हुआ था. जिसके बाद सोशल मीडिया पर सांसद सतीश गौतम के प्रति नकारात्मक टिप्पणी की जा रही थी.

विधायक को सांसद से दूर दूसरी कुर्सी पर बैठना पड़ा था

यह घटना 25 सितंबर की बताई गई. कोल विधायक अनिल पाराशर ने पंडित दीनदयाल उपाध्याय की जयंती पर श्री राम बैंकट हॉल में कार्यक्रम आयोजन किया था. इस कार्यक्रम में परिवहन मंत्री दया शंकर सिंह, उच्च शिक्षा मंत्री योगेंद्र उपाध्याय भी शामिल हुए थे. मंच पर पूर्व महापौर शकुंतला भारती और भाजपा की कार्यकारिणी सदस्य पूनम बजाज भी मौजूद थी. इसके अलावा जिला पंचायत अध्यक्ष श्रीमती विजय सिंह भी मंच पर मौजूद थी.

वायरल वीडियो पर विपक्षी पार्टियों ने तीखी प्रतिक्रिया दी

सांसद सतीश गौतम का वीडियो सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हुआ. जिसमें शहर विधायक मुक्ता राजा के ठीक बगल में भाजपा सांसद सतीश गौतम बैठे हैं. सांसद पहले विधायक मुक्ता राजा के हाथ पर अपना हाथ रखकर कुछ बातें करते हैं. इसके बाद अचानक से विधायक के कंधे पर अपने दोनों हाथ रखकर मुस्कुराने लगते हैं. मंच पर कई अन्य जनप्रतिनिधि भी मौजूद थे. भाजपा के अन्य पदाधिकारी भी थे. सांसद की हरकत से विधायक खुद को असहज महसूस करती नजर आई. कुछ ही देर बाद वह अपनी कुर्सी बदल देती है. वह दूसरी जगह बैठ जाती है. बरौली से भाजपा विधायक ठाकुर जयवीर सिंह भी सांसद की हरकतों पर गौर करते नजर आते हैं.

दस दिन बाद विधायक मुक्ता राजा का लेटर वायरल

इस घटना के करीब 10 दिन बाद शहर विधायक मुक्ता राजा की ओर से लेटर वायरल हो रहा है. इस वायरल लेटर पर लोग कमेंट भी कर रहे है. इस पत्र के सत्यता की पुष्टि नहीं है. पत्र में शहर विधायक मुक्ता राजा की तरफ से कहा गया है कि जिस विषय को लेकर लोग चिंतित और परेशान है. उसी विषय में उन्होंने बताया है कि 25 सितंबर को जिस कार्यक्रम में उपस्थित थी. वहीं पर अलीगढ़ लोकसभा के सांसद सतीश गौतम भी उपस्थित थे. जिनसे मेरा पारिवारिक छोटे भाई जैसा रिश्ता है. वह मुझसे बड़ी बहन जैसा व्यवहार करते हैं, क्योंकि उस कार्यक्रम में मेरे पति स्वर्गीय संजीव राजा जी का जिक्र किया जा रहा था. जिस कारण बेहद भावुक हो गई थी, इसलिए सांसद ने उस भावुक पल से निकलने में हंस कर मेरा तनाव दूर करने का प्रयास कर रहे थे. शहर विधायक मुक्ता राजा के नाम से जारी पत्र में जिक्र किया गया है कि वह हिंदू हृदय सम्राट शेर दिल स्वर्गीय संजीव राजा की पत्नी है. मेरे साथ अभद्रता करना तो दूर मुझे कोई गलत दृष्टि से देख भी नहीं सकता है.स्वर्गीय संजीव राजा की शक्ति मेरे साथ है. हालाकि विधायक मुक्ता राजा ने कहा है कि पत्र उनके संज्ञान में नहीं है. सोशल मीडिया पर भी कुछ लोगों ने पत्र को फर्जी बताया है.

यह भी पढ़े,

वायरल वीडियो : बीजेपी के सांसद सतीश गौतम ने महिला विधायक का कंधा पकड़ा, वीडियो में देखें नाराजगी जताने पर कैसे हंसते दिखे



एक टिप्पणी भेजें

और नया पुराने