बुलंदशहर।जहांगीराबाद कोतवाली क्षेत्र में रास्ते पर नल लगाने से विवाद मे हुई युवक की मौत


जहांगीराबाद। कोतवाली क्षेत्र के गांव पूठा में चकरोड पर नल लगाने के विवाद में एक युवक की पीट-पीटकर हत्या कर दी गई। आरोप है कि पुलिस ने शांतिभंग में मामला निपटना चाहा। अब पुलिस ने 16 लोगों के खिलाफ हत्या की रिपोर्ट दर्ज कर तीन आरोपियों को गिरफ्तार किया है।

रिपो० ललित चौधरी

जहांगीराबाद के अमरगढ़ चौकी क्षेत्र के गांव पूठा निवासी रोशनलाल व विजयपाल सिंह के जमीन के पट्टे आमने-सामने हैं। दोनों के खेत के बीच लगभग आठ फीट चौड़ी एक चकरोड है। चकरोड पर नल लगाए जाने को लेकर दोनों पक्षों के बीच विवाद चल रहा था। गत 28 मई को भी चकरोड पर नल लगवाते समय दोनों पक्षों में झगड़ा हो गया था। पुलिस ने दोनों पक्षों के चार लोगों का शांतिभंग में चालान कर दिया था। लेकिन, इसके बाद भी दोनों पक्षों में विवाद नहीं थमा। शुक्रवार की शाम दोनों पक्षों में नल लगवाने का विवाद फिर से गहरा गया और दोनों पक्षों में जमकर लाठी डंडे चले। मारपीट में एक पक्ष से सावित्री व बबलू घायल हो गए। बबलू के सिर में चोट लगने के कारण उसे गंभीर अवस्था में जिला अस्पताल रेफर कर दिया गया। यहां देर रात उपचार के दौरान उसने दम तोड़ दिया। मृतक की मां कुंती की तहरीर पर पुलिस ने दूसरे पक्ष के विजयपाल, राहुल, जितेंद्र, छत्तरपाल, भोला उर्फ मोहित, ब्रजेश, नीरज, नीटू, टीटू, लोकेश, सुनीता, अरुण, असीक, सुनील, सोमवती, गीता समेत 16 लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया है। वहीं देर रात बबलू की मौत के बाद पुलिस ने उसका शव पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। शनिवार की सुबह पुलिस ने आरोपियों की तलाश में टीम बनाकर ताबड़तोड़ दबिश देकर सोमवती पत्नी विजयपाल, गीता पत्नी बृजेश व असीक पुत्र विजयपाल को गिरफ्तार कर लिया है।

लापरवाही के आरोपी में चौकी इंचार्ज लाइन हाजिर

मृतक बबलू के परिजनों ने घटना के बाद पुलिस प्रशासन पर गंभीर आरोप लगाए हैं। मृतक की मां रोते बिलखते एक ही बात बार-बार कह रही थीं कि यदि पुलिस मामले में सही कार्रवाई करती तो उनका बेटा आज जीवित होता। एसएसपी ने मामले में लापरवाही बरतने पर अमरगढ़ चौकी प्रभारी संजय चंचल को लाइन हाजिर कर दिया है।

और नया पुराने

खबर पढ़ रहे लोग: 0