विष्णु हत्याकांड: पिता ने बेटे को उतार दिया मौत के घाट, वजह जानकर रह जाएंगे दंग

 


उस रात रमेश व प्रेमपाल शव को जलाकर साक्ष्य मिटाने के फिराक में थे, मगर सूचना पर पुलिस घर जा पहुंची, जिससे लाश को ठिकाने नहीं लगा सके थे।

रिपो० निखिल शर्मा

हरदुआगंज : थाना क्षेत्र के गांव बरौठा में बीते माह हुए विष्णु शर्मा हत्याकांड में उसका पिता ही हत्यारा निकला, घरेलू विवाद के दौरान विष्णु की गला दबाकर हत्या करने के बाद पिता अपने भाई की मदद से शव को गांव के निकट जंगल में फेंक आया था, पुलिस ने हत्याकांड का पर्दाफाश करते हुए पिता व ताऊ को जेल भेजा है।

फ्लैशबैक : बीते माह तीन जून की शाम विष्णु शर्मा 22 वर्ष अचानक लापता हो गया था, छह जून को बरौठा व चौगानपुर के बीच बंबा किनारे झाडिय़ों में विष्णु शर्मा का सड़ा गला शव मिला था, पोस्टमार्टम रिपोर्ट में गला दबाकर हत्या किए जाने की पुष्टि होने के बाद गुमशुदगी को हत्या में तरमीम कर पुलिस हत्यारों की तलाश में जुट गई। एसओ रामवकील सिंह ने बताया कि जांच के दौरान शक के दायरे में परिजन ही आये, विष्णु के ताऊ प्रेमपाल को हिरासत में लेकर पूछताछ करने पर हत्या का राजफाश हो गया, एसओ ने बताया कि विष्णु के पड़ोस की महिला से अवैध संबंध थे, जिसकी शिकायत आ रही थीं, उस शाम विष्णु नशे की हालत में घर आया था, कहासुनी की बीच पिता रमेश ने ही गला दबाकर उसे मौत के घाट उतार दिया, और लाश को भाई प्रेमपाल की मदद से गांव के निकट कंजी के जंगल में फेंक आए थे।

शव को जलाने का था प्लान

विष्णु की हत्याकर शव को जंगल में छुपाने के अगले दिन रमेश बेटे को लापता होने की खबर देने थाने पहुंच गया था, उसी की तहरीर पर पुलिस ने चार जून को गुमशुदगी दर्ज की थी, एसओ के मुताबिक चार जून की रात को ही गांव के व्यक्ति ने फोन करके स्वजनों द्वारा हत्या कर शव जंगल में फेंक देने की सूचना दी थी, उस रात रमेश व प्रेमपाल शव को जलाकर साक्ष्य मिटाने के फिराक में थे, मगर सूचना पर पुलिस घर जा पहुंची, जिससे लाश को ठिकाने नहीं लगा सके थे। हत्यारे रमेश व प्रेमपाल को बरौठा नहर पुल से दबोचकर जेल भेजाा है।

और नया पुराने

खबर पढ़ रहे लोग: 0