बुलंदशहर। फर्जी एनकाउंटर में फरार चल रहे 25 हजार रूपए के इनामी, रिटायर्ड सीओ ने कोर्ट में किया सरेंडर

ब्यूरो ललित चौधरी

19 साल पहले नेशनल हाईवे-91 पर सिकंदराबाद कोतवाली क्षेत्र में हुए छात्र एनकाउंटर मामले में 25 हजार के इनामी सेवानिवृत्त सीओ रणधीर सिंह ने कोर्ट में सरेंडर कर दिया है।

आपको अवगत कर दे कि 3 अगस्त 2002 को सिकन्दराबाद थाने के प्रभारी निरीक्षक रणधीर सिंह ने रिपोर्ट दर्ज कराई थी कि पुलिस से मुठभेड़ में बस लूटकर भागते एक बदमाश की मौत हो गई, जिसकी शिनाख्त पुलिस ने प्रदीप कुमार (22) पुत्र यशपाल सिंह निवासी गांव शहपानी थाना सिकंदराबाद के रूप में की। साथ ही पुलिस ने मृतक को लुटेरा बताया। 

वहीं, मृतक के पिता यशपाल सिंह ने बताया कि काफी जद्दोजहद के बाद सिकंदराबाद के तत्कालीन प्रभारी निरीक्षक रणधीर सहित 8 पुलिसकर्मियों के खिलाफ बीटेक के छात्र प्रदीप की हत्या का मामला दर्ज कराया जा सका। हाल ही में सुप्रीम कोर्ट ने यूपी सरकार पर 7 लाख रुपये का जुर्माना लगाया था। मामले में अन्य पुलिसकर्मियों की गिरफ्तारी हो चुकी है, जबकि रिटायर सीओ फरार चल रहे हैं।

आपको बता दें कि फरार सीओ पर बीते दिन एसएसपी द्वारा 25 हजार रुपए का इनाम घोषित किया गया था। बुधवार को आरोपी इनामी सीओ रणधीर सिंह ने बुलंदशहर पहुंचकर कोर्ट में सरेंडर कर दिया। एसपी सिटी सुरेंद्र नाथ तिवारी ने आरोपी सीओ के सरेंडर करने की पुष्टि की है।



एक टिप्पणी भेजें

और नया पुराने