अलीगढ़ | डॉ आस्था हत्याकांड में पति सहित दो सुपारी किलर गिरफ्तार

 

डेस्क समाचार दर्पण लाइव

अलीगढ़ :  में थाना क्वार्सी के मोहल्ला रमेश बिहार कालोनी में हुई डाक्टर आस्था की हत्या में पुलिस ने पति और दो सुपारी किलर को गिरफ्तार कर लिया है.

एक लाख रूपये की सुपारी देकर साथियों से पति ने कराई थी डाक्टर आस्था की हत्या. पुलिस ने तीसरे सुपारी किलर की तलाश शुरू कर दी है.

पुलिस प्रवक्ता ने बताया कि डा. अस्था अग्रवाल की हत्या के मामले में पुलिस टीम ने विकास, पवन कुमार निवासी गांव साथा जवां और अरून अग्रवाल निवासी रमेश बिहार को कासिमपुर चौराहा के पास से गिरफ्तार कर लिया. आरोपितों के पास से घटना में प्रयुक्त बिना कागजों की बरना कार और सुपरी में मिले 54200 रूपये भी बरामद हुए. पुलिस प्रवक्ता ने बताया कि आरोपितों से हुई पूछताछ के दौरान आरोपित अरूण अग्रवाल ने बताया कि उसने विकास, पवन ओर अशोक उर्फ अशन से एक लाख रूपये तय कर अपनी पत्नी आस्था की हत्या करायी थी. 60 हजार रूपये वह पहले दे चुका था. बाकी तीस हजार रूपये देने के लिए आया था. अरून ने बताया कि पत्नी के चरित्र को लेकर वह मानसिक रूप से परेशान था. रोकने-टोकने पर पत्नी गाली-गलौज तक करती थी. 12 अक्टूबर की रात अपने घर रमेश बिहार में विकास चौहान, पवन और अशोक को बुलाया, दोनों बच्चों को डराकर ड्राइंगरूम में बैठाकर तेज आवाज में टीवी चला दिया. चारों ने आस्था को कमरे में ले गए और कमरे के पास वाशिंग एरिया में झूले के पास सफेद रस्सी से उसका गला घोंटकर हत्या कर दी. जिसके बाद लाश को वेंटिलेशन जाल में लटका दिया. दोनों बच्चों और तीनों को घर से बाहर लाकर और घर के गेट पर ताला डालकर कार से सबसे पहले साथी चीनी मील पर विकास को छोडा और सबूत मिटाने के लिए फैक्ट्री में लगे सीसीटीवी कैमरे का डीवीआर निकाल लिया. दिल्ली जाते समय उसे कार से फैंक दिया. बाकी लोगों को मथुरा नगर (मधुपुरा रोड) बडे भाई तरूण के पास गया और जिसे हत्या की रूप रेखा बनाकर पहले ही बता दिया था.

बच्चों को उनके घर छोड दिया और फिर अरूण, अशोक और पवन को साथ लेकर दिल्ली चलार गया. दोनों को अपने-अपने घर जाने के लिए कह दिया. 17 अक्टूबर को सुपारी के बाकी रूपये देने के लिए कासिमपुर चौराहा पर आया था, जहां पुलिस ने दोनों साथियों के साथ दबोच लिया. पुलिस ने आरोपित अरूण के बतायी जगह के सीसीटीवी कैमरे चेक किए, जिसमें कार आती दिखाई दी. मृतका के घर अन्य आरोपित पैदल आते दिखे. पुलिस ने तीनों आरोपितों को जेल भेज दिया. पुलिस के मुताबिक आरोपित अशोक उर्फ टशन को गिरफ्तार करने के प्रयास भी शुरू कर दिए हैं. पुलिस टीम में इंस्पेक्टर क्वार्सी विजय सिंह, एसआई अंकित सिंह, मुख्य आरक्षी सुनील कुमार, आरक्षी माधवप कुमार, अतुल कुमार, सर्विलांस, स्वाट टीम के एसआई संजीव कुमार और संदीप कुमार भी मौजूद रहे.

एक टिप्पणी भेजें

और नया पुराने