कई शुभ संयोगों में शुरू हो रहे गुप्त नवरात्रि

 

डेस्क, समाचार दर्पण लाइव

हिंदू पंचांग के अनुसार, आषाढ़ मास की गुप्त नवरात्रि 30 जून 2022 से शुरू होंगे, जो कि 08 जुलाई 2022 को समाप्त होंगे हिंदू पंचांग के अनुसार, साल भर में चार नवरात्रि पड़ती है जो पौष, चैत्र, आषाढ और अश्विन मास में पड़ती है। जिसमें से दो गुप्त नवरात्रि होती है।

पंडित हिमांशु शास्त्री

और दो सार्वजनिक होती है। धार्मिक मान्यताओं के अनुसार, गुप्त नवरात्रि में दस महाविद्याओं की पूजा-अर्चना की जाती है ज्योतिषाचार्य हिमांशु शास्त्री ने बताया कि आषाढ़ गुप्त नवरात्रि 2022 के पहले दिन यानी 30 जून को गुरु पुष्य योग, सर्वार्थ सिद्धि योग, अमृत सिद्धि योग, आडल योग और विडाल योग बन रहे हैं। इस दिन ध्रुव योग सुबह 09:52 बजे तक रहेगा। पुनर्वसु नक्षत्र रात्रि 01:07 बजे जुलाई 01 तक रहेगा। इसके अलावा पुष्य नक्षत्र का भी निर्माण हो रहा है। ज्योतिष शास्त्र में इन सभी योगों को शुभ कार्यों के लिए उत्तम माना गया है।घटस्थापना मुहूर्त आषाढ़ गुप्त नवरात्रि की घटस्थापना 30 जून 2022, गुरुवार को होगी। गुप्त नवरात्रि प्रतिपदा तिथि 29 जून को सुबह 08:21 बजे से 30 जून को सुबह 10:49 बजे तक रहेगी। घटस्थापना मुहूर्त सुबह 05:26 बजे से सुबह 06:43 बजे तक है।

एक टिप्पणी भेजें

और नया पुराने