क्वार्सी : बीमारी से परेशान दिव्यांग ने लगाई फांसी, अविवाहित दिव्यांग मानसिक रूप से था परेशान

अलीगढ़ के क्वार्सी थाना क्षेत्र के जाकिर नगर में गुरुवार दोपहर एक दिव्यांग ने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। बीमार होने के कारण पड़ोसी ही उसके खाने पीने का ध्यान रखते थे। दोपहर में जब पड़ोसी उसे खाना देने पहुंचे तो उन्हें इस बात की जानकारी हुई।

रिपो. अभिषेक चौधरी

दिव्यांग के आत्महत्या होने की जानकारी होने पर पड़ोसियों ने तुरंत इसकी जानकारी पुलिस को दी। घटना की जानकारी मिलने पर क्वार्सी पुलिस मौके पर पहुंची और गेट तोड़ा। मृतक ने गाटर में रस्सी बांधकर फांसी लगाई थी। पुलिस ने शव को नीचे उतारा और पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है।

अविवाहित था दिव्यांग, चलाता था ई-रिक्शा

जाकिर नगर निवासी जावेद (55) पुत्र अब्दुल समद दिव्यांग था और उसका निकाह भी नहीं हुआ था। वह अपने घर पर अकेला रहता था और ई-रिक्शा चलाकर और छोटी मोटी मजदूरी करके अपना खर्चा चलाता था। पड़ोसियों से अच्छा व्यवहार होने के चलते आसपास के लोग उसे खाना दे देते थे।

पड़ोसी शमीम अहमद ने बताया कि हर दिन की तरह गुरुवार को भी लोग उसे खाना देने के लिए ही गए थे। लेकिन काफी देर तक दरवाजा खटकाने के बाद भी जब कोई जवाब नहीं मिला तो लोगों ने दरवाजे के अंदर झांककर देखा। तो अंदर जावेद फंदे से लटका हुआ था। जिसके बाद लोगों ने इसकी जानकारी तत्काल पुलिस को दी।

बीमार होने के कारण था मानसिक परेशान

दिव्यांग जावेद ई-रिक्शा चलाकर और मजदूरी करके अपना खर्चा चलाता था। पड़ोस के लोग भी मृतक की इसमें मदद कर दिया करते थे। लेकिन पड़ोसियों ने बताया कि बीते कुछ दिनों से वह बीमार भी चल रहा था। जिसके चलते मृतक कुछ दिनों से मानसिक रूप से परेशान भी चल रहा था। घटना के बाद पड़ोस के लोगों ने मृतक के रिश्तेदारों को भी घटना की सूचना दे दी, जिसके बाद परिवार के लोग भी मौके पर पहुंच गए।

इस्पेक्टर क्वार्सी विजय सिंह ने बताया कि मृतक परिवार से अलग रहता था और बीमार चल रहा था। प्रारंभिक जांच में मानसिक तनाव में आकर फांसी लगाने की बात सामने आ रही है। शव का पोस्टमार्टम कराया जा रहा है, जिससे मौत का कारण स्पष्ट हो सके।

एक टिप्पणी भेजें

और नया पुराने