अलीगढ़ : अपराधों में गिरफ्तारी के साथ होगी कुर्की:अलीगढ़ एसएसपी ने की 4 घंटे क्राइम मीटिंग

पुराने अपराधियों पर पुलिस की नजर लगातार बनी हुई है। उनके खिलाफ गैंगस्टर, गुंडा एक्ट और हिस्ट्रीशीट की कार्रवाई की जा रही है। लेकिन इतना ही काफी नहीं है। नए अपराधियों पर भी नकेल कसकर ही अपराध रोके जा सकते हैं।

ब्यूरो डेस्क, अलीगढ़

जिले में होने वाले गंभीर अपराधों पर पुलिस पूरी सख्ती के साथ पेश आए और आरोपियों के खिलाफ गैर जमानती वारंट जारी किए जाएं। इसके साथ ही इनकी संपत्तियां भी जब्त और कुर्क की जाए। तभी अपराधियों में कानून का डर होगा। यह बात एसएसपी कलानिधि नैथानी ने क्षेत्राधिकारियों व थाना प्रभारियों की बैठक में कही।

4 घंटे की बैठक में दिए गए विभिन्न निर्देश

आमजनों को अपराध मुक्त माहौल देने और जिले में कानून व्यवस्था बनाए रखने के लिए एसएसपी ने अधिकारियों की बैठक की। पुलिस लाइन स्थित सभागार में लगभग 4 घंटे तक यह बैठक जारी रही और एसएसपी कलानिधि नैथानी ने विभिन्न निर्देश दिए।

इसमें क्षेत्राधिकारी और थाना प्रभारियों ने थाने वाले अपराध और अपराधियों के खिलाफ चलाए जाने वाले अभियानों की जानकारी दी। उन्होंने बताया कि बीते महीनों में कितने अपराधियों के खिलाफ कार्रवाई की गई हैं। इसके साथ ही अधिकारियों ने आगामी त्योहारों में शांतिपूर्ण माहौल बनाए रखने के लिए अपनी रणनीतियां बताई।

साइबर अपराधों के लिए लोगों को करेंगे जागरुक

क्राइम मीटिंग में बताया गया कि इन दिनों साइबर अपराध लगातार बढ़ते जा रहे हैं। इसके लिए लोगों को जागरुक करना बहुत जरूरी है। थाना वार अभियान चलाकर लोगों को जागरुक किया जाए और साइबर हेल्प लाइन नंबर 155260 का ज्यादा से ज्यादा प्रचार प्रसार किया जाए।

बैठक में एसपी सिटी कुलदीप गुनावत, एसपी ग्रामीण पलाश बंसल, एसपी प्रज्ञान महेंद्र सिंह, एसपी ट्रैफिक मुकेश चंद्र, एएसपी मनीष शांडिल्य, सभी क्षेत्राधिकारी, थाना प्रभारी, प्रतिसार निरीक्षक समेत विभिन्न पुलिस अधिकारी मौजूद रहे।

एक टिप्पणी भेजें

और नया पुराने